अब निमोनिया से नहीं जाएगी बच्चों की जान 

अब निमोनिया से नहीं जाएगी बच्चों की जान सेमिनार में मौजूद जिलाधिकारी अजय दीप सिंह व अन्य।

रोहित श्रीवास्तव, स्वयं प्रोजेक्ट डेस्क

बहराइच। प्रदेश सरकार ने निमोनिया से पीड़ित बच्चों की मौतों के बढ़ते ग्राफ को देखते हुए नयूमोकोकल कानजुगेट वैक्सीन (पीसीवी) टीकाकरण अभियान की शुरुआत की है। इस टीकाकरण की शुरुआत प्रदेश के छ: जिलों से होने जा रही है। इसके अन्तर्गत गरीब बच्चों का नि:शुल्क टीकाकरण किया जाएगा।

बहराइच, बलरामपुर, खीरी, सीतापुर, सिद्धार्थनगर और श्रावस्ती को टीकाकरण कार्यक्रम में शामिल किया जा रहा है। मंगलवार को जिले के कीर्तनपुर गाँव में एक विशेष सेमिनार का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के तौर पर स्थानीय जिलाधिकारी अजय दीप सिंह और बहराइच के श्रावस्ती व बलरामपुर के सीएमओ भी मौजूद थे।

ये भी पढ‍़ें- गोरखपुर को मिला नया एयरपोर्ट टर्मिनल

जिलाधिकारी ने बताया, ‘‘राज्य सरकार बच्चों को जानलेवा बीमारियों से बचाने के लिए प्रतिबद्ध है। सरकार इस टीके को सभी बच्चों के लिए मुफ्त में उपलब्ध करा रही है बल्कि देश में यह टीका पहले बहुत महंगा था। इस टीके के लिए 3,000 रुपए खर्च करना पड़ता था, जिसके चलते गरीब लोग इसका इस्तेमाल नहीं करा पाते थे, लेकिन अब गरीब लोग भी इस टीके का इस्तेमाल कर खुद को बचा सकते है।”

कार्यक्रम में बहराइच सीएमओ डॉ. अरुण लाल ने बताया, ‘‘अब छह जनपदों के बच्चों को नियमित टीकाकरण में पीसीवी भी लगेगा। दो प्राइमरी टीके क्रमशः छह हफ्ते व दूसरा टीका 14 हफ्ते की उम्र पर और बूस्टर टीका नौ महीने की उम्र पर दिया जाएगा। जैसे पोलियो को जड़ से समाप्त किया गया है उसी तरीके से मुहिम चलाकर निमोनिया व मस्तिष्क ज्वर को जड़ से उखाड़ फेंकने की योजना का शुभारम्भ किया जा रहा है।”

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top