रोयाना सिंह होंगी बीएचयू की पहली महिला चीफ प्रॉक्टर  

Vinod SharmaVinod Sharma   28 Sep 2017 5:33 PM GMT

रोयाना सिंह होंगी बीएचयू की पहली महिला चीफ प्रॉक्टर  प्रो. रोयाना  सिंह 

स्वयं प्रोजेक्ट डेस्क

वाराणसी। बीएचयू में छात्राओं की सुरक्षा को लेकर हुए बवाल के बाद गुरूवार को कुलपति ने प्रो. रोयाना सिंह को चीफ प्राक्टर बनाया है, जो विवि की प्रथम महिला चीफ प्रॉक्टर होंगी। इसके अलावा रोयाना महिला शिकायत प्रकोष्ठ बीएचयू की चेयरपर्सन भी हैं।

इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस की प्रोफसर रोयाना सिंह को ओएन सिंह की जगह नया चीफ प्रॉक्टर बनाया गया है। उन्होंने कहा, "परिसर में छात्राओं की सुरक्षा का पूरा ख्याल रखा जाएगा। भविष्य में इस तरह की घटना न हो, इसकी पूरी कोशिश होगी। इस तरह की घटना मेरे कॉलेज लाइफ में भी हुई है तो मैं समझ सकती हूं कि ऐसे हालात में छात्रा या छात्र क्या सोच सकते हैं।"

प्रो. रोयाना मूल रूप से जौनपुर के डोभी क्षेत्र स्थित सेनापुर गाँव की रहने वाली है, जबकि उनके पति डॉ. शिवप्रकाश सिंह वाराणसी के मिर्जामुराद के गांव किलोरी निवासी है। रोयाना पिछले कई वर्षों से बीएचयू में अनेक महत्वपूर्ण कमेटियों में सक्रिय भागीदारी कर चुकी हैं। गौरतलब है कि बीएचयू बवाल की नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए मंगलवार देर रात को चीफ प्राक्टर ओएन सिंह ने इस्तीफा दे दिया था। बुधवार को प्रो. महेंद्रनाथ सिंह को प्रभारी चीफ प्रॉक्टर बनाया गया था।

ये भी पढ़ें- BHU बवाल : चीफ प्रॉक्टर का इस्तीफा मंजूर

वीसी ने छात्राओं से किया संवाद

दिल्ली से मंगलवार रात लौटने के बाद वीसी के रवैये में काफी बदलाव दिख रहा है। इसका उदाहरण बुधवार देर शाम बीएचयू के त्रिवेणी हास्टल में देखने को मिला। घटना के करीब एक सप्ताह बाद कुलपति प्रो. जीसी त्रिपाठी ने छात्राओं से मुलाकात की। उन्होंने समस्याएं सुनीं और समस्याएं दूर करने का भरोसा दिलाया। बता दें कि विवि में बवाल के बाद दो अक्टूबर तक छुट्टी घोषित हो गयी और सभी वार्डन ने छात्राओं को हास्टल खाली करने का कहा था। इसके कारण सभी हास्टलों में छात्राओं की संख्या न के बराबर है।

कुलपति प्रो. जीसी त्रिपाठी त्रिवेणी महिला छात्रावास जाकर छात्राओं से भेंट की। उन्होंने विवि में सुरक्षा योजना के बाबत छात्राओं से चर्चा की। कहा कि सुरक्षा में व्यापक बदलाव किया गया है। छात्रवासों की सुरक्षा में शारीरिक शिक्षा विभाग की सीनियर छात्राओं की ड्यूटी लगाई जाएगी। साथ ही महिला छात्रावासों का रूट चार्ट तैयार होगा। इन सड़कों पर यातायात की शर्तें लागू होंगी। कुलपति के साथ कुलसचिव डॉ. नीरज त्रिपाठी सहित छात्रावास की समन्वयक एवं संरक्षिका मौजूद रहीं।

ये भी पढ़ें- BHU : आखिर किसने दिया छात्राओं पर लाठीचार्ज का आदेश !

क्राइम ब्रांच ने कब्जे में लिया साक्ष्य

एसएसपी राम कृष्ण भारद्वाज ने बताया कि क्राइम ब्रांच के इंस्पेक्टर राहुल शुक्ला ने विवेचना शुरू कर दी है। 23 सितम्बर की रात बीएचयू परिसर में कौन गार्ड कहां पर तैनात था, इसकी जानकारी जुटा ली गई है। जल्द ही सभी को नोटिस देकर उनका बयान दर्ज किया जाएगा। फोरेंसिक और साइबर सेल की टीम भी बीएचयू परिसर गई थी। उन्होंने कहा कि किसी भी निर्दोष छात्र के साथ अन्याय नहीं होगा। जिन्होंने माहौल को बिगाड़ा है सिर्फ वही कार्रवाई की जद में आएंगे। फिलहाल बीएचयू बवाल के संबंध में दर्ज मुकदमों की विवेचना के तहत 21 सितम्बर की शाम से 24 सितम्बर की सुबह तक की परिसर के सीसीटीवी कैमरों की फुटेज क्राइम ब्रांच ने अपने कब्जे में ले ली।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top