टूटी सड़क बनी पढ़ाई में बाधा, कोई ध्यान देने वाला नहीं

टूटी सड़क बनी पढ़ाई में बाधा, कोई ध्यान देने वाला नहींबदहाल सड़कों से जाने छात्रों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है।

संजीव शर्मा, स्वयं कम्युनिटी जर्नलिस्ट

कानपुर। एक तरफ डिजिटल इंडिया और मेक इन इंडिया की बात चल रही है और दूसरी तरफ आईटीआई के विद्यार्थी कच्ची सड़क पर चलकर संस्थान में जा रहे हैं। बदहाल सड़कों से जाने वाले छात्रों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है।

कानपुर नगर के ब्लॉक कल्यानपुर के ग्रामपंचायत नौरंगाबाद में स्थित राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान जो टिकरा से मंधना जाने वाले मार्ग के मध्य से लगभग 1 किमी की दूरी पर स्थित है। यह सड़क पूरी तरह से बदहाल हो चुकी है। इसी संस्थान में शिक्षा प्राप्त कर रहे छात्र शिवांक पाण्डेय (21 वर्ष) का कहना है,“ इस कच्ची सड़क पर चलना बहुत ही मुश्किल होता है। सड़क कच्ची होने के कारण सड़क पर गढ्ढे और बहुत ही उबड़-खाबड़ है और आए दिन साइकिल पंचर होती रहती है।” छात्र नीतीश वर्मा (22) बताते हैं, “वर्षा ऋतु में इस सड़क पर चलना बहुत ही मुश्किल होता है। कभी-कभी तो बहुत सारे दोस्त इसी कारण पढ़ाई करने के लिए भी नहीं आते हैं।”

ये भी पढ़ें- गाँव से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

संस्थान के प्रधानाचार्य नन्दराम शाक्य ने बताया,“ इस संस्थान का निर्माण वर्ष 2005 है और इस संस्थान को चलते 11 वर्ष बीत चुके हैं, मैंने सड़क के लिए कई बार शासन से भी शिकायत की पर आज तक कोई भी सुनवाई नही हुई।” ग्राम प्रधान अनुराग कश्यप का कहना है,“ मैंने कई बार पीडब्ल्यूडी के अधिकारियों से भी कहा पर आज तक कोई भी सुनवाई नही हुई। मैंने नरेगा के अंतर्गत इस सड़क पर बस मिट्टी डलवा दी थी।”

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top