शोहरतगढ़: कस्बे को मिलेंगे दो नए ट्रांसफार्मर

शोहरतगढ़: कस्बे को मिलेंगे दो नए ट्रांसफार्मरबिजली की समस्या से उपभोक्ताओं को जल्द ही मुक्ति मिलने वाली है।

स्वयं कम्युनिटी जर्नलिस्ट

शोहरतगढ़। ओवरलोड के चलते ट्रिपिंग झेल रहे बिजली विभाग के उपभोक्ताओं को जल्द ही इससे मुक्ति मिलने वाली है। विभाग ने क्षेत्रीय सांसद के साथ बैठक कर कस्बा शोहरतगढ़ में दो नया ट्रांसफार्मर लगाने और जर्जर तारों को बदलने की संस्तुति प्रदान कर दी है।

दरअसल, कस्बा शोहरतगढ़ में मानक से कम केवीए का ट्रांसफार्मर लगा होने और वार्डों का ट्रांसफार्मर पर ठीक से बंटवारा न होने से बिजली आए दिन ओवरलोड होकर बैठ जाती है। कभी-कभी ट्रिपिंग भी झेलनी पड़ती है। सांसद जगदम्बिका पाल ने रिपोर्ट कार्ड प्रस्तुत करते हुए बताया, “बिजली विभाग की संयुक्त बैठक में शोहरतगढ़ नगर को ओवरलोड से मुक्ति के लिए विभाग ने दो ट्रांसफार्मर लगाने एवं जर्जर तारों को बदलने का प्रस्ताव पास कर दिया है, जिसमें 250 केवीए और 100 केवीए का एक-एक ट्रांसफार्मर नगरवासियों की सुविधा के आधार पर केंद्र बिंदु तय कर लगाया जाएगा।” सांसद ने बताया कि ट्रांसफार्मर की संख्या बढ़ जाने से ओवरलोड और ट्रिपिंग से मुक्ति मिलेगी।

ये भी पढ़ें- जीएसटी से दहशत में किसान, एक जुलाई से महंगी होगी खेती, लेकिन किस-किस पर पड़ेगा असर, पता नहीं

नगर के सतीश मित्तल (40वर्ष) ने बताया, “नया ट्रांसफार्मर लग जाने से ओवरलोड की दिक्कतें दूर होंगी, ट्रिपिंग भी नहीं हो पाएगा। अभय सिंह (30) ने बताया, “सांसद का प्रयास कस्बावासियों के लिए सराहनीय है। मानक के अनुरूप ट्रांसफार्मर की क्षमता होने से राहत की सांस मिलेगी।”

ट्रांसफार्मर की वर्तमान स्थिति

कस्बे की बिजली संचालित करने के लिए विभाग ने गोलघर में 400-400 केवीए के दो ट्रांसफार्मर लगाए हैं। इसमें एक कस्बे के तीन हिस्से की आबादी का भार रखा है, जबकि दूसरे पर एक हिस्से का तीन भाग भार रखकर चलाया जा रहा है। वहीं मोती चैक के समीप 250 केवीए का ट्रांसफार्मर पर दूसरे ट्रांसफार्मर का चौथा हिस्सा चल रहा है।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top