राष्ट्रपति पुरस्कार के लिए स्काउट गाइड के छात्रों का चयन 

राष्ट्रपति पुरस्कार के लिए स्काउट गाइड के छात्रों का चयन फोटो: गाँव कनेक्शन 

स्वयं प्रोजेक्ट डेस्क

औरैया। भारत स्काउट गाइड में अपना दम दिखाने वाले छात्रों ने जिले का नाम रोशन किया है। जिले के चार छात्रों का राष्ट्रपति पुरस्कार के लिए चयन हुआ है।

जिला मुख्यालय से 10 किमी दूर शहर के नगर पालिका इंटर कालेज में भारत स्काउट गाइड की तरफ से छात्रों को सम्मानित किया गया। जिला विद्यालय निरीक्षक चंद्र प्रताप सिंह ने पुरस्कार के लिए चयनित छात्रों की प्रशंसा करते हुए उन्हें शील्ड और प्रशस्ति देकर सम्मानित किया।

डीआईओएस ने बताया कि चारों छात्रों ने जिले के अलावा अन्य जिलों में बचाव कार्य में हिस्सा लिया है इसलिए इनका चयन पुरस्कार के लिए हुआ है। दिन हो या रात भारत स्काउट गाइड के छात्र बचाव कार्य में जी जान से जुट जाते हैं।

ये भी पढ़ें-पुणे की यूनिवर्सिटी का चौंकाने वाला फरमान, मांसाहारी भोजन खाने वाले छात्रों को नहीं मिलेगा गोल्ड मेडल

जिला भारत स्काउट गाइड के महासचिव छात्रों को लेकर स्वयं बाहर जाते हैं। इसके अलावा जिले के धार्मिक स्थलों पर लगने वाले बड़े मेलों में भीड़ को नियंत्रित करने का भी काम रोवर्स और रेंजर्स करते हैं। पुरस्कार के लिए चयनित छात्र राम चन्द्र, सागर प्रजापति, अरशद वारसी, सुख सागर त्रिपाठी की एक परीक्षा दिल्ली में होगी। जिसे पास करने पर उन्हें भारत स्काउट गाइड का सम्मानित सदस्य माना जाएगा। इसके बाद देश में होने वाली किसी भी बड़ी दुर्घटना के बचाव कार्य की उक्त छात्रों को जिम्मेदारी दी जा सकती है।

रेल दुर्घटना के बचाव कार्य के लिए पुरस्कृत हुए छात्र

भारत स्काउट गाइड के महासचिव मनीष मिश्रा ने बताया, “पुखरायां रेल दुर्घटना में रोवर्स रेंजर्स ने बचाव कार्य में हिस्सा लिया था। दुर्घटना में हुए घायलों को निजी और किराये की गाड़ी से रोवर्स ने अस्पताल में भर्ती कराया था।

बचाव कार्य में छात्र और छात्राएं सभी शामिल थे। बचाव कार्य में हिस्सा लेने पर डीआईओएस के द्वारा सम्मानित किया गया।”

ये भी पढ़ें-JNU परिसर में बिरयानी बनाने पर छात्रों पर जुर्माना, ABVP नेता बोले- बीफ बिरयानी थी

प्रशिक्षण के लिए मिली जगह

नगर पालिका इंटर कालेज के प्रधानाचार्य महावीर सहाय अवस्थी ने कहा, “मैं छात्रों को प्रशिक्षण और खेलकूद के लिए अपने कालेज में जगह देता हूं।

जब भी चाहें कालेज की फील्ड में अपना प्रशिक्षण कर सकते हैं। इसके साथ ही कालेज का एक कमरा भी देता हूं, जिसमें बैठक भी कर सकते हैं।”

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top