मिलावट : आटे में कीड़े, मिठाइयों में हानिकारक रंग, घी में मिला रिफाइंड

मिलावट : आटे में कीड़े, मिठाइयों में हानिकारक रंग, घी में मिला रिफाइंडप्रतीकात्मक चित्र 

जोगेन्द्र कुमार, स्वयं कम्युनिटी जर्नलिस्ट

मेरठ (माछरा)। रोजमर्रा के इस्तेमाल में आने वाली खाने की चीजों का शुद्ध मिलना मुश्किल हो गया है। खाद्य सुरक्षा प्रशासन द्वारा जुलाई और अगस्त में लिए गए खाद्य पदार्थों के 21 नमूनों की रिपोर्ट आ गई है, जिनमें से 11 नमूने मानकों के विपरित पाए गए हैं। इनमें से पांच नमूने सेहत के लिए काफी हानिकारक पाए गए हैं। मक्के के आटे के सैंपल में कीड़े और मिठाइयों में ऐसे रंग मिले हैं, जिन्हें खाने से आदमी को गंभीर बीमारियां घेर लेती हैं। साथ ही घी के नमूनों में रिफाइंड और डालडा मिला है।

खाद्य सुरक्षा प्रशासन की अभिहित अधिकारी अर्चना धीरान बताती हैं, “अगस्त में शास्त्रीनगर वसुंधरा कॉलोनी में रवि भूषण के गोदाम में छापेमारी की गई थी, जहां लड्डू और सोनपापड़ी आदि बनाई जा रही थी, इन मिठाइयों में जो रंग मिलाया जा रहा था, उसे खाने से मानव जीवन पर खतरा हो सकता है। लड्डू और सोनपापड़ी के नमूनों की रिपोर्ट आना अभी बाकी है।”

यह भी पढ़े- पीलिया से बचने के लिए सफाई का रखें ध्यान

उन्होंने बताया, “इसी तरह पूरे अगस्त महीने में गाँव-देहात में बन रहे आटे और मिठाइयों के सैंपल लिए गए थे, जिनमें से 12 नमूने पूरी तरह फेल पाए गए हैं। जिन लोगों के सैंपल फेल हुए हैं उनके खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करा दी गई है।” खाद्य सुरक्षा अधिकारी सर्वेश मिश्रा बताते हैं, “जो नमूने सेहत के लिए हानिकारक पाए गए हैं। उनके खिलाफ मामला दर्ज करा दिया है, एसीजीएम कोर्ट में मुकदमे की पैरवी की जाएगी।”

जुलाई और अगस्त के नमूने अभी आए हैं, सितंबर में पूरे महीने अभियान चलेगा, अभी तक 50 से ज्यादा नमूने भेजे जा चुके हैं, जिनकी रिपोर्ट आना अभी बाकी है।
अर्चना धीरान, अभिहित अधिकारी, मेरठ

स्वास्थ्य के लिए बेहद खतरनाक

सीएमओ डॉ. राजकुमार चौधरी बताते हैं, “रंगों की मिलावट से बनी मिठाइयां स्वास्थ्य के लिए बेहद खतरनाक साबित हो सकती हैं। रसायनिक रंगों की वजह से इंसान को गंभीर रोग, जैसे हैजा, स्किन रोग, लिवर, यहां तक किडनी भी फेल हो सकती है।”

यह भी पढ़े- आंखों से जुड़ी बीमारियों से रहना है दूर तो विटामिन ए जरूरी

ऐसे करें पहचान

डॉ. बजाज के अनुसार, रंगों का शक होने पर मिठाई को गर्म पानी में डालें। इसके बाद ऑयोडिन लेकर मिठाई वाले कटोरे में डाल दें। अगर मिठाई घुलकर रंग बदलती है तो उसमें मिलावट है और रंग नहीं बदलती है तो मिलावट नहीं है।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top