योगी ने सच कर दिया जेपी का सपना, पढ़ें क्या है पूरा मामला

Ashwani DwivediAshwani Dwivedi   8 July 2017 9:48 PM GMT

योगी ने सच कर दिया जेपी का सपना, पढ़ें क्या है पूरा मामलाउद्घाटन के अवसर पर जेपी (सफेद गमछे में)।

लखनऊ। जिस उम्र में लोग पढ़ाई और कॅरियर के बारे सोचते हैं, दोस्तों के साथ मौज मस्ती करते हैं, उस उम्र में लखनऊ के एक युवक ने अपनी काॅलोनी के दुर्दशा देखते हुए काॅलोनी को संवारने के बारे में सोचा। लखनऊ के इस हिस्से में कोई विकास कार्य करना इतना सहज नहीं है क्योंकि नगर निगम और सरकार की दृष्टि में ये लखनऊ उत्तर में बसी काॅलोनिया अवैध हैं।

लखनऊ उत्तर विधान सभा जनपद में विकास के मामलों में सबसे पिछड़ी विधान सभा है। 4 लाख वोटरों वाली इस विधान सभा मे लगभग 22 वार्ड शामिल है। वर्ष 2012 में महोना विधान सभा और कुछ हिस्सा लखनऊ पूर्व व कुछ हिस्सा लखनऊ पश्चिम का काटकर लखनऊ उत्तर विधान सभा बनाया गया। 2012 के विधान सभा चुनाव में समजवादी पार्टी के प्रो अभिषेक मिश्र इस विधान सभा के प्रथम विधायक बने।

ये भी पढ़ें- फुल टाइम नेता नहीं हूं, मुख्यमंत्री के रूप में जिम्मेदारी पूरी होते ही मठ वापस जाऊंगा: योगी आदित्यनाथ

फैजुल्लागंज वार्ड के 4 टुकड़े में बटने पर जताई खुशी

पिछले 6 वर्षों से जेपी द्विवेदी फैजुल्लागज में वार्ड के बंटवारे को लेकर संघर्ष कर रहे थे। कारण ये था कि उस समय फैजुल्लागंज वार्ड प्रथम और द्वितीय थे। जेपी की कालोनी गायत्री नगर न तो वार्ड प्रथम में आती थी और न ही वार्ड द्वितीय में आती थी। जिस कारण काॅलोनी के लगभग 20 हजार नागरिक मूलभूत सुविधायों से वंचित थे। नए परिसीमन में फैजुल्लागंज को चार वार्ड प्रथम, द्वितीय , तृतीय, और चतुर्थ में बांटा गया है जिसमें जेपी की काॅलोनी को फैजुल्लागंज चतुर्थ में शामिल किया गया है।

विकास के लिए अकेले दौड़ते रहे जेपी

25 वर्षीय युवक जेपी अपनी कॉलोनी के विकास के लिए साइकिल से विधायक, सांसद, सभासद, नगर निगम की दाैड़ लगाते रहे। परिणाम स्वरूप जेपी अपनी काॅलोनी बिजली के खंभे, स्ट्रीट लाइट, 8 हैंडपम्प लाने में तो सफल हो गए किन्तु नाली और सड़क नहीं ला पाए। जेपी ने बताया कि नेता चाहे किसी पार्टी के हों, मैने सभी से विकास के लिए अपील की।

भाजपा सरकार बनने के बाद मैंने अपने गुरुजी अजित सिंह जी से योगी बाबा से मिलाने की प्रार्थना की। वे मुझे मुख्यमंत्री आवास ले गए। वहां बहुत भीड़ थी। सीमए तक पहुंच पाना आसान नहीं था। बावजूद इसके मैं धक्का-मुक्की करके जब तक मुझे सुरक्षा वाले पकड़ते मैं योगी बाबा के पास पहुंच गया। उनके पैर छुए, उन्हें अपनी काॅलोनी की समस्या बताई। उन्होंने कंधे पर हाथ रखकर कार्यवाही का आश्वासन दिया और 15 दिनों में काम कराने की बात कही। लेकिन 15 दिनों में कुछ नहीं हुआ तो मुझे लगा कि कुछ नहीं होगा लेकिन परसों नगर निगम से फोन आया कि भाजपा के क्षेत्रीय विधायक डॉ नीरज बोरा मेरी कालोनी में सड़क का उदघाटन करने आ रहे हैं। मैं सबकी तरफ से मुख्यमंत्री जी को धन्यवाद देना चाहता हूं।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top