फिर आया आग का मौसम, कन्नौज में जले 17 घर 

फिर आया आग का मौसम, कन्नौज में जले 17 घर आग से जले घर को समेटते ग्रामीण

गर्मी की आहट के बाद आग लगने का दौर भी शुरू हो गया है। शुनिवार को सुबह लगी आग से करीब 15 घर जल गए। सुबह लगी आग में गृहस्थी का सामान, खेती का बीज, बच्चों की किताबें सब कुछ जलकर खाक हो गया।

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ से करीब 175 किमी दूर जिला कन्नौज के भिम्मापुर्वा (कटरी अमीनाबाद) में आग ने कई किसानों का नुकसान किया।

ये भी पढ़ें- ‘इज्जत’ के लिए दुल्हन ने तीन दिन नहीं खाया ससुराल में खाना, दे दिया अल्टीमेटम

जिला मुख्यालय कन्नौज से करीब 15 किमी दूर प्राथमिक विद्यालय कटरी अमीनाबाद में पढ़ने वाले कक्षा चार के छात्र राममनोहर पुत्र कैलाश ने बताया, ‘‘हम सो रहे थे। गाँव में लोग चिल्लाए। हो-हो कट गई कि आग लग गई है। बाल्टी से पानी डालकर आग बुझाई।’’

जले घर में बैठी महिला

23 वर्षीय रामवती पत्नी रामपाल बताती हैं कि ‘‘परे थे, ये चिल्लाए कि पड़ोस से आग लग गई है। जल्दी से लड़का-बच्चा उठाई लाए। घर से गृहस्थी को सामान निकालन लगे। इसई से हाथ जल गओ। फफका पड़ गओ।’’

रामवती आगे बताती हैं कि ‘‘कपड़ा उठाते समय छप्पर गिर गया, दीवार से हमें इन्होंने निकाला। खेती के लिए रखी डीएपी की बोरी जल गई। 5000 रुपए के तरबूज के बीज रखे थे वो भी जल गए। खरबूज के बीज भी जल गए, बस थोड़े से बचे हैं।"

ये भी पढ़ें- बिजली चोरी रोकने के लिए यूपी में स्थापित किये जाएंगे बिजली थाने 

सुरेश (58 वर्ष) बताते हैं, ‘‘आज सुबह करीब पांच बजे खेत पर शौच को गए थे। जब आए तो रजाई, खटिया, गद्दा सभी सामान जल गया। शरीर ही बचे हैं। हाथों से आग बुझाई गाड़ी देर में आयी।"

आग में जल गईं बच्चों की किताबें

कक्षा तीन में पढ़ने वाली गीता बताती हैं, ‘‘मेरी पांच किताबें थीं, जो जल गईं। अब रुपए मम्मी से मांगेंगे और किताब खरीदकर लाएंगे।’’ कक्षा दो की शिवानी कहती हैं, ‘‘चार किताबें जल गईं। बस्ता, ड्रेस, जूता-मोजा भी जल गए।’’

जली किताबों को देखते बच्चे

मंशाराम (40 वर्ष) बताते हैं, ‘‘दूसरे के घर से आगी लगी थी। मेरी खटिया, रजाई, भूसा और गद्दा सब जल गए। पंपिंग सेट से आग बुझाई आठ बजे के करीब आग बुझी तब कहीं सात बजे दमकल की गाड़ी आयी।"

50 वर्षीय शिवराम ने बताया, ‘‘बिजली की चिंगारी से आग लगी है। सबसे पहले राधेश्याम के यहां से शुरूआत हुई।’’ गुलाब चंद्र बताते हैं कि बेटे प्रमोद कुमार की शादी 14 जून को है उसका सामान रखा था वह भी जल गया।

स्कूल पहुंचे सिर्फ 37 बच्चे

प्राथमिक विद्यालय कटरी अमीनाबाद के हेडमास्टर मनोज मिश्र ने बताया कि 132 बच्चे पंजीकृत हैं। गाँव में आग लग जाने की वजह से 37 बच्चे आए हैं। आग की वजह से कम हैं। कक्षा चार के छात्र विकास ने बताया कि घर में आग लग गई है जिसकी वजह से हम स्कूल नहीं गए। आलू जल गए हैं।

कन्नौज के तहसीलदार ऋशिकांत राजवंशी बताते हैं, "मैं गाँव गया था। गाँव के दक्षिण साइड से साढ़े पांच बजे आग लगी है कारण पता नहीं चल सका है। 15-16 झोपड़ी और छप्पर जल गए हैं। एक झोपड़ी के हिसाब से 4,100 रुपए और खाना व बर्तन का 3,800 रुपए दिए जाते हैं। एक पीड़ित को करीब 8,000 रुपए सहायता मिलेगी। एक गाय भी जल गई है। डीएम साहब को रिपोर्ट भेज दी है। खातों में धनराशि जल्द भेज दी जाएगी। 1.73 लाख रूपए की संस्तुति की है।’’

Share it
Share it
Share it
Top