घाघरा नदी पर बने संजय सेतु का पिलर धंसा , मरम्मत का काम जारी

घाघरा नदी पर बने संजय सेतु का पिलर धंसा , मरम्मत का काम जारीघाघरा नदी पर बने संजय सेतु का पिलर करीब चार इंच नीचे धंसा, भारी वाहनों की आवाजाही रूकी।

बाराबंकी। बाराबंकी और बहराइच जिले के बीच घाघरा नदी पर बने संजय सेतु का पिलर करीब चार इंच नीचे धंस गया। पिलर धंसने से पुल के ऊपर भारी वाहनों की आवाजाही पर रोक लगा दी गई है। प्रशासन ने पुल की मरम्मत का काम तेजी से शुरू करा दिया है।

मंगलवार को प्रदेश की राजधानी लखनऊ से सटे जिले बाराबंकी को बहराइच से लिंक करने वाले संजय सेतु का पिलर नंबर पांच धंसने से प्रशासन में हड़कंप मच गया। पुल के क्षतिग्रस्त होने की जानकारी के बाद प्रशासन पिलर की मरम्मत करवाने में जुट गया है।

यह भी पढ़ें- उत्तर भारत में लाल केले की दस्तक, बाराबंकी के किसान ने की खेती की शुरुआत

प्रशासन को पिलर धंसने की जानकारी मिलते ही तुरंत इस पुल से भारी वाहनों की आवाजाही रोक दी गई।जानकारी मिलते ही एसडीएम रामनगर भी मौके पर पहुंचे और किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए मौके पर पुलिस को तैनात करवाया। बाराबंकी से बहराइच, गोंडा, बलरामपुर, सिद्धार्थनगर और नेपाल की तरफ जाने वाले भारी वाहनों को भी रोक दिया गया है।

लगभग एक साल पहले भी इस पुल का पिलर धंस गया था, जिसके बाद इसकी मरम्मत कराई गई थी। ऐसे में बड़ा सवाल ये हैं कि बार-बार इस तरह से पुल के धंसने से प्रशासन कोई सीख क्यों नहीं ले रहा है या फिर जिम्मेदार हुक्मरान किसी बड़े हादसे के इंतजार में हैं।

यह भी पढ़ें- शकरकंद की खेती से मुनाफा कमा रहे बाराबंकी के किसान

इसके साथ ही पुल के आसपास भीड़ को नियंत्रित करने के लिए बाराबंकी और बहराइच दोनों जिले की पुलिस भी मौके पर तैनात की गई है। घाघरा नदी पर बना संजय सेतु का पिलर धंसने की वजह से जरवल रोड तिराहे से लखनऊ की ओर जाने वाले बड़े वाहनों को वहीं रोक दिया गया।

यह भी पढ़ें- बाराबंकी के केंद्रों पर नहीं हो रही धान खरीद, किसान परेशान

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Share it
Top