उत्तर प्रदेश : इस बार लखनऊ महोत्सव में होगा बहुत कुछ ख़ास

उत्तर प्रदेश : इस बार लखनऊ महोत्सव में होगा बहुत कुछ ख़ाससाभार: इंटरनेट।

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में लखनऊ महोत्सव का आयोजन 24 जनवरी से शुरू हो रहा है। शहर के शहीद पथ स्थित अवध शिल्प ग्राम में पहली बार लगने वाले महोत्सव में लगभग 250 दस्तकारों को अपने शिल्प के प्रदर्शन का मौका मिलेगा। महोत्सव का उद्घाटन उपराष्ट्रपति वैंकेया नायडू करेंगे। अवध शिल्प ग्राम में लगभग 200 के करीब पक्के स्टाल है। इसके अलावा खुले में कैंप लगाकर लगभग 50 स्टाल और लगाए जा सकते हैं।

आपको बता दें महोत्सव के दौरान शिल्प ग्राम परिसर के अंदर वाहनों का प्रवेश वर्जित होगा। दैनिक भास्कर के मुताबिक आवास विकास परिषद के अधिशासी अभियंता यूसी सिंह ने कहा, ''पहले तो एक जिले की एक दस्तकारी के हिसाब से स्टाल लगने थे।

ये भी पढ़ें- हस्तशिल्प सप्ताह : विदेशों में लुभा रहे बनारस में बने लकड़ी के खिलौने

जिसके तहत यूपी दिवस का आयोजन होना था। अब इसके साथ ही लखनऊ महोत्सव का भी आयोजन किया जाना है। जिसमें हमारे कुल स्टाल के अलावा कुछ खुले स्थान में भी दस्तकार अपनी कला का प्रदर्शन कर सकते हैं। अधिकतम 250 स्टाल लगाए जा सकते हैं ऐसा तब होगा जब किसी भी तरह के वाहनों की पार्किंग शिल्पग्राम के भीतर न की जाए।

दिव्यांगों और वरिष्ठ नागरिकों का प्रवेश नि:शुल्क

अवध शिल्प ग्राम में लगने वाले लखनऊ महोत्सव में दिव्यांगों और वरिष्ठ नागरिकों का प्रवेश नि:शुल्क होगा। महोत्सव में इनकी मदद के लिये हेल्प डेस्क और ट्राई साइकिल की भी व्यवस्था रहेगी। महोत्सव में आने-जाने में असुविधा न हो इसके लिये प्रवेश गेट के आस-पास 50 मीटर के दायरे को नो पार्किंग व ठेला मुक्त जोन कर दिया गया है।

आपातकालीन स्थिति से निपटने के लिये होंगे दो आपात कालीन द्वार

महोत्सव के दौरान किसी भी आपातकालीन स्थिति से निपटने के लिये आपदा प्रबंधन के तहत दो आकस्मिक द्वार की व्यवस्था रहेगी। इा आपातकालीन द्वार पर प्रशिक्षित एनडीआरएफ के जवानों के साथ फायर वाहन तैनात रहेंगे।

ये भी पढ़ें- हस्तशिल्प सप्ताह : पूर्वांचल की कालीन ने देश-दुनिया में बनाई अपनी पहचान

महोत्सव में दिखेंगे रेल मेट्रो के प्रोजेक्ट्स

महोत्सव में लखनऊ मेट्रो रेल कॉरपोरेशन एलएमआरसी अलग-अलग जिलों में शुरू होने वाले प्रोजेक्ट को अपने स्टाल पर दिखाएगा। इनमें लखनऊ सहित अन्य जिलों में क्या योजनाएं हैं और किस प्रोजेक्ट पर कितना काम हो चुका है, इन सबकी जानकारी होगी। इस प्रोजेक्ट में नार्थ-साउथ कॉरिडोर के चौधरी चरण सिंह एयरपोर्ट से लेकर मुंशी पुलिया तक स्टेशनों का जिक्र होगा।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Tags:    lucknow mahotsav 
Share it
Share it
Share it
Top