Top

पश्चिमी यूपी को मिलेंगे 21000 नलकूप कनेक्शन 

Sundar ChandelSundar Chandel   5 May 2018 12:05 PM GMT

पश्चिमी यूपी को मिलेंगे 21000 नलकूप कनेक्शन नए नलकूप से किसानों को मिलेगी राहत।

नलकूप कनेक्शन का इंतजार कर रहे किसानों के लिए खबर अच्छी है। चालू वित्तिय वर्ष में सामान्य योजना के तहत पश्चिमी यूपी को 21 हजार नलकूप कनेक्शन दिए जाएंगे। शासन ने पश्चिमी यूपी के लिए नलकूप कनेक्शनों का लक्ष्य जारी कर दिया है। किस क्षेत्र में नलकूल लगाए जाएंगे इसकी जानकारी एसएमएस के माध्यम से किसानों को दे दी जाएगी।

ये भी पढ़ें- सिंचाई के लिए कमाल का है यह बर्षा पंप , न बिजली की जरूरत और न ही ईंधन की 

नए नलकूप किसानों को किए जाएंगे आवंटित।

पीवीवीएनएल के एमडी आशुतोष निरंजन बताते हैं,“ किसानों को राहत देने के लिए चालू वित्तिय वर्ष में 20780 नलकूप कनेक्शन आवंटित किए गए हैं। सरकार ने सामान्य योजना के अंतर्गत कई साल से डार्क जोन में नलकूपों के उर्जीकरण में लगे प्रतिबंद को पूरी तरह हटा दिया है। नलकूप कनेक्शन वरीयता के आधार पर किसानों को आवंटित किए जाएंगे। सभी 14 जिलों के अधिकारियों को इसके निर्देशित भी कर दिया गया है। ”

ये भी पढ़ें- नलकूप की कमी से फसल हो रही चौपट 

खरखौंदा निवासी किसान ब्रजलाल (55वर्ष) का कहना है, “ पश्चिमी यूपी में सिंचाई के पानी की बहुत समस्या है। अब नए नलकूप लगने से किसानों को बहुत फायदा होगा।”

ये भी पढ़ें- पानी के संसाधनों की कमी से हो रही परेशानी, तालाब और कुएं भी पड़े हैं सूखे 

मुज्जफरनगर के खतौली निवासी किसान रामप्रकाश (38वर्ष) का कहना है, “ सरकार का यह प्रयास बहुत अच्छा है। खेतों में सिंचाई के लिए पर्याप्त संसाधन नहीं थे। अब लोगों को कुछ राहत मिलेगी। ”

एसएमएस से मिलेगी जानकारी

सामान्य योजना के तहत कनेक्शन का आवेदन करने वाले किसानों को अधीशासी अभियंता कार्यालय से एसएमएस के जरिये सूचना दी जाएगी। कनेक्शन पहले आओ पहले पाओ के आधार पर बनने वाली सूची के आधार पर मिलेगा। आवेदनकर्ताओं को लगभग 30 कार्यदिवस के अंतर्गत एस्टीमेट की धनराशि खंड कार्यालय में जमा कराकर अनुबंध किया जाएगा।

सभी जिलों के अधीशासी अभियंताओं को शासन के निर्देश के बारे में बता दिया गया है। किसानों को जल्द ही नलकूप कनेक्शन आवंटित कर दिए जाएंगे।
आशुतोष निरंजन, एमडी पीवीवीएनएल वेस्ट यूपी

किस जनपद को कितने कनेक्शन

मेरठ 620

बागपत 830

मुरादाबाद 2440

रामपुर 520

जेपीनगर 4000

संभल 5200

बिजनौर 1066

गाजियाबाद 170

बुलंदशहर 50

हापुड़ 734

सहारनपुर 1500

मुज्जफरनगर 1900

शामली 1500

नोएडा 250

ये भी पढ़ें- रहट सिंचाई जानते हैं क्या होती है? बिना डीजल और बिजली के निकलता था पानी

ये भी पढ़ें- करें रेन गन से फसलों की सिंचाई, ऐसे उठा सकते हैं इस योजना का लाभ

ये भी पढ़ें- सिंचाई के लिए कमाल का जुगाड़ : ग्लूकोज की बोतलों से बनाइए देसी ड्रिप सिस्टम

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.