अभी भी वेंटिलेटर पर हैं आईपीएस सुरेंद्र दास, पिछले महीने ही हुआ था कानपुर ट्रांसफर

अभी भी वेंटिलेटर पर हैं आईपीएस सुरेंद्र दास, पिछले महीने ही हुआ था कानपुर ट्रांसफर

लखनऊ। कानपुर के सिटी एसपी सुरेंद्र दास ने जहर खाकर आत्महत्या की कोशिश की है। फिलहाल एसपी को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। आईसीयू में भर्ती आईपीएस अधिकारी की हालत गंभीर बतायी जा रही है। बता दें कि कानपुर के सिटी एसपी सुरेंद्र दास साल 2014 बैच के आईपीएस अधिकारी हैं। खबरें आ रही हैं कि आईपीएस अधिकारी ने जहर खाने से पहले एक सुसाइड नोट भी लिखा है। फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है। वहीं पुलिस के कई आला अधिकारी अस्पताल पहुंचे हुए हैं। हालांकि इस संबंध में अभी तक कोई आधिकारिक बयान नहीं आया है। गौरतलब है कि आईपीएस अधिकारी सुरेंद्र दास का पिछले महीने ही कानपुर ट्रांसफर हुआ था, वह यहां एसपी ईस्ट के पद पर तैनात हैं।

उधर, मामले में रीजेंसी हॉस्पिटल के चीफ मेडिकल सुपरिटेंडेंट राजेश अग्रवाल ने बयान जारी करते हुए कहा है कि एसएपी सुरेंद्र दास को वेंटिलेटर पर रखा गया है। सुबह जब उनको लाया गया था तो उसी समय से उनकी पल्स नहीं मिल रही थी। कहा कि उनकी हालत काफी नाजुक है और अगले कुछ घंटे उनके लिए काफी महत्वपूर्ण हैं।

ये भी पढ़ें- आईपीएस की मार्मिक पोस्ट- 'उसकी किसी ने नहीं सुनी क्योंकि वो गरीबी रेखा के अंतिम पायदान पर है'

बताया जा रहा है कि रीजेंसी से अब उनकी हालत को लेकर शाम 4 बजे एक मेडिकल बुलेटिन जारी होगी। उधर, पुलिस सूत्रों का कहना है कि छुट्टी पर चल रहे एसएसपी कानपुर अनंत देव तिवारी भी वापस लौट रहे हैं।

वहीं घटना को लेकर एडीजी ज़ोन अविनाश चन्द्र ने बताया "बीती रात 4/5 सितंबर की सुबह 4 बजे इनकी तबियत अचानक बिगड़ी। उनकी पत्नी जो एमएस डॉक्टर हैं वो साथ में थीं जिन्होंने इनको उल्टी करवाया और उर्सला अस्पताल लेकर आयीं। वहाँ से उन्हें फार्च्यून हॉस्पिटल ले जाया गया लेकिन हालत गंभीर होने के कारण उन्हें रीजेंसी हॉस्पिटल रिफर कर दिया गया जहाँ उनका उपचार आईसीयू में रखकर किया जा रहा है। उनकी हालत सीरियस बतायी जा रही है। अभी तक कोई कारण स्पष्ट नहीं हो पाए हैं।"

मंगलवार को उत्तर प्रदेश में एक अन्य शीर्ष अधिकारी ने भी खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर ली थी। गोरखपुर में पूर्वोत्तर रेलवे में उप-मुख्य वाणिज्य प्रबंधक तरुण शुक्ला मंगलवार शाम शाहपुर थाना क्षेत्र स्थित अपने आवास पर अपनी लाइसेंसी रिवॉल्वर से गोली मारकर आत्महत्या कर ली थी। आत्महत्या का कारण अभी तक स्पष्ट नहीं हो सका है। पुलिस मामले की जांच में जुटी है।

ये भी पढ़ें- पिथौरागढ़ की पहली महिला आईएएस बदल रही जिले की सूरत

आईपीएस अधिकारी द्वारा खुदकुशी या खुदकुशी के प्रयास की यह पहली घटना नहीं है। बीते दिनों उत्तर प्रदेश के ही एटीएस हेडक्वार्टर में तैनात अपर पुलिस अधिक्षक राजेश साहनी ने भी संदिग्ध परिस्थितियों में खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर ली थी। उनका शव एटीएस हेडक्वार्टर के ही एक कमरे में मिला था। इसके साथ ही महाराष्ट्र पुलिस के तेजतर्रार आईपीएस अधिकारी हिंमाशु रॉय ने भी खुद को गोली मारकर सुसाइड कर लिया था। दरअसल हिमांशु लंबे समय से बीमार बताए जा रहे थे और इसी तनाव के चलते उनके खुदकुशी करने की खबर आयी थी।

Share it
Top