गाँव के हर गरीब और आवास विहीन को मिलेगी पक्की छत

गाँव के हर गरीब और आवास विहीन को मिलेगी पक्की छतप्रधानमंत्री आवास योजना में प्रधान और सेके्रटरी की भूमिका खत्म ।

स्वयं प्रोजेक्ट डेस्क

औरैया। प्रधानमंत्री आवास योजना में प्रधान और सेके्रटरी की भूमिका को खत्म कर दिया गया है। गाँव के हर गरीब और आवास विहीन को आवास मिलने की संभावना प्रबल हो गई है। पात्र लाभार्थियों को आवास दिए जा रहे हैं। लाभार्थी प्रधान और सेके्रटरी के चक्कर न लगाए। अगर कोई समस्या आए तो सीडीओ और डीएम कार्यालय में शिकायत करें। लक्ष्य के मुताबिक प्रत्येक गरीब और आवास विहीन को आवास मुहैया कराया जाएगा।

मुख्य विकास अधिकारी औरैया सत्येन्द्र नाथ चौधरी ने बताया,“ प्रधानमंत्री आवास योजना-ग्रामीण के अन्तर्गत समस्त विकास खण्डों केा ग्राम पंचायतवार एवं श्रेणीवार लक्ष्यों का आवंटन पूर्व में किया जा चुका है। निर्देशित किया गया था कि माह अगस्त के अन्त तक शत-प्रतिशत लाभार्थियों का पंजीयन एवं स्वीकृति का कार्य करा लिया जाये। लाभार्थियों के रजिस्ट्रेशन,जियो टैगिंग के कार्य में कुछ ग्राम पंचायत के पंचायत सचिवों द्वारा पर्याप्त रूचि नहीं ली जा रही है।

ये भी पढ़े- प्रधानमंत्री आवास योजना के लिए ऐसे करें ऑनलाइन आवेदन

पंचायत में पात्र लाभार्थियों को रजिस्ट्रेशन एवं जियो टैगिंग का कार्य नहीं कराया जाता है तो संबंधित ग्राम पंचायत का लक्ष्य दूसरी ग्राम पंचायत में हस्तांरित कर दिया जाएगा। लक्ष्य हस्तांरित करने के उपरान्त यदि पात्र लाभार्थी ग्राम पंचायत में शेष रह जाते है तो संबंधित ग्राम पंचायत के सचिव की पूर्ण जिम्मेदारी मानकर उनके विरूद्ध अनुशासनात्मक कार्यवाही की जायेगी। ”

ये भी पढ़े-ओडीएफ गांव को ही मिलेगा प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ

योजना के क्रियान्वयन के संबंध में निर्देश दिये गये हैं कि, किसी निश्चित तिथि में सभी लाभार्थी को ग्राम पंचायत स्तर पर एकत्रित कर लिया जाये। गाँव के लोगों से पूछे कि किस वर्ष में आपका आवास स्वीकृत किया गया है। आवासों की स्वीकृति में ग्राम प्रधान तथा सचिव ग्राम पंचायत को कोई विशेष अधिकार नहीं है और न ही उनकी कोई महत्वपूर्ण भूमिका है। लाभार्थी की पात्रता के अनुसार तथा प्राथमिकता कम के अनुसार ही आवासों का आवटन किया जा रहा है।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

किसी भी लाभार्थी के द्वारा ग्राम प्रधान अथवा किसी शासकीय कर्मचारी को कोई धनराशि न दे। यदि कोई आवास के नाम पर पैसा मांगता है तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। किसी भी लाभार्थी से अगर पैसा कोई ले रहा है सीधे जिलाधिकारी कार्यालय या फिर मुख्य विकास अधिकारी से शिकायत करें।
जय प्रकाश सागर, जिलाधिकारी औरैया।

Share it
Top