‘सोलर चरखा मिशन’ से खुलेंगे गाँव में रोजगार के अवसर

‘सोलर चरखा मिशन’ से खुलेंगे गाँव में रोजगार के अवसरकेंद्रीय सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योग राज्यमंत्री गिरीराज सिंह।

लखनऊ। यूपी इंवेस्टर्स समिट 2018 में सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योग (एमएसएमई) के लिए गाँव-गाँव में रोजगार के नए अवसर बन रहे हैं।

यूपी इंवेस्टर्स समिट-2018 में ‘गाँव कनेक्शन’ से विशेष बातचीत के दौरान केंद्रीय सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योग राज्यमंत्री गिरीराज सिंह बताते हैं, “देश के प्रधानमंत्री और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री ने एमएसएमई को एक अच्छा प्लेटफार्म दिया है। इसी कड़ी में सोलर चरखा सोशल इंटरप्रिन्योरशिप का एक नया मॉडल है। यह मॉडल गाँव में पांच करोड़ लोगों को रोजगार देने का अवसर प्रदान करता है। इसमें गाँव की महिलाएं, युवा, सभी मिलकर काम करेंगे।“

उन्होंने आगे कहा, “अभी तक बिहार के नवादा और उत्तर प्रदेश के देवरिया में छोटे-छोटे स्तर पर ये मॉडल चल रहा है, लेकिन मार्च में इस मॉडल को बड़े स्तर पर पूरे देश में चलाएंगे। तब देश के गाँव-गाँव में सोलर चरखा एक मिशन के रूप में उभरेगा।“

सोलर चरखा के बारे में जानकारी देते हुए मंत्री गिरीराज सिंह ने बताया, “सोलर चरखा एक इंटरप्रिन्योरशिप मॉडल पर है, इसमें कोई इंटरप्रिन्योरशिप गाँव में करवाएगा और फिर यार्ड से लेकर गारमेंट्स तक गाँव से जाएगा और दुनिया की कोई भी ताकत उसे टक्कर नहीं दे पाएगी।“

केंद्रीय सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योग राज्यमंत्री गिरीराज सिंह।

बता दें कि केंद्र सरकार की ओर से खादी को बढ़ावा देते हुए सोलर चरखा सोशल इंटरप्रिन्योरशिप मॉडल तैयार किया गया है, जो खादी से जुड़े कामगारों को प्रशिक्षित कर उन्हें रोजगार के अवसर उपलब्ध कराएगा।

खेती-किसानी के बारे में बात करते हुए मंत्री गिरीराज सिंह ने कहा, “हम गौ मूत्र दस रूप लीटर ले रहे हैं, और गोबर पांच रुपए में ले रहे हैं। कटे हुए बाल और गौ मूत्र मिलाकर अमीनो एसिड बन रहा है, जो खेत में उर्वरक का काम कर रहा है। इसके अलावा बायोकम्पोस्ट है, दोनों के साथ धीरे-धीरे हम रासायनिक को हटाकर जैविक की ओर ला रहे हैं। जल्द ही सोशल इंटरप्रिन्योरशिप देश में एक क्रांति के रूप में उभरेगा।“

यूपी इंवेस्टर्स समिट में सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योग में निवेश के सवाल पर मंत्री गिरीराज सिंह ने आगे बताया, “उत्तर प्रदेश में इंवेस्टर्स समिट से एमएसएमई को अब नया रूप मिला है, अब हमने रजिस्ट्रेशन तीन मिनट में कर दिया, अगर आपका भुगतान बकाया हो तो सीपीएस के अंदर वो 45 दिनों के भीतर मिलने का प्रावधान कर दिया, पांच प्रतिशत की कर में छूट और इसके अलावा इंस्पेक्टर राज खत्म कर दिया।“ आगे कहा, “इसके अलावा कोलेटर फ्री 2 करोड़ तक कर दिया, जिसमें 75 प्रतिशत तक कोलेटर फ्री होगा और 25 प्रतिशत आपका बैंकर के साथ होगा।“

उन्होंने कहा, “मैं उम्मीद करता हूँ कि ये इन्वेस्टर समिट देश को नई दिशा देगा। उत्तर प्रदेश भारत का खुद में एक बड़ा देश है, जब उत्तर प्रदेश तरक्की के राह पर जाएगा, तो देश भी जाएगा।“

यह भी पढ़ें: यूपी इंवेस्टर्स समिट: ऐसा इंफ्रास्ट्रक्चर तैयार करेंगे, जो यूपी को नई बुलंदियों पर ले जाएगा: मोदी

मुकेश अंबानी उत्तर प्रदेश को देंगे 10 हजार करोड़ , हर गांव तक पहुंचेगा जियो

Share it
Share it
Share it
Top