छेड़छाड़ के विरोध पर काटा था लड़की का हाथ, केजीएमयू के डॉक्टरों ने 11 घंटे ऑपरेशन कर जोड़ा हाथ

Deepanshu MishraDeepanshu Mishra   24 Aug 2017 8:22 PM GMT

स्वयं प्रोजेक्ट डेस्क

लखनऊ। बुधवार की दोपहर बाद लगभग 2:30 बजे लखीमपुर में छेड़खानी का विरोध करने पर मनचले ने एक लड़की का हाथ काट दिया था। लखीमपुर जिला अस्पताल में तत्काल औपचारिक प्रक्रिया के बाद मरीज को लखनऊ के किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी के लिए भेज दिया गया। रात में 9 बजे के आसपास विश्वविद्यालय के पास कैजुअल्टी में लड़की को भर्ती कर लिया गया था और 11 घंटे के ऑपरेशन के बाद लड़की के कटे हाथ को जोड़ दिया गया।

लखीमपुर खीरी में निघासन रोड पर बुधवार दोपहर एक शोहदे ने भीड़ के सामने एक किशोरी पर तलवार से हमला किया था। युवक के हमले में किशोरी के बाएं हाथ का पंजा कटकर अलग हो गया। उसके सिर और दूसरे हाथ पर भी घातक प्रहार किया गया। भीड़ ने भाग रहे आरोपी को दबोच लिया। बताते हैं कि हमलावर कई दिनों से किशोरी को तंग कर रहा था।

ये भी पढ़ें- चित्रकूट एनकाउंटर : डकैतों ने सीने में मारी गोली, फिर भी मोर्चे पर डटा रहा यूपी पुलिस का जांबाज

किशोरी ने छेड़छाड़ का विरोध किया तो उसने यह दुस्साहसिक वारदात कर दी। लड़की कुछ सामान लेने के लिए अपने घर के पास की ही दुकान पर गई थी। पीछे से उसका पड़ोसी रोहित चौरसिया तलवार लेकर पहुंच गया। उस वक्त रोड पर भारी भीड़ थी। आरोपी ने लड़की का हाथ काट दिया।

केजीएमयू आने बाद मरीज को केजीएमयू ट्रामा यूनिट के न्यूरो सर्जरी के चिकित्सक एनेस्थिसिया विभाग के डॉक्टर रिचा वर्मा डॉक्टर नेहा गुप्ता तथा अन्य चिकित्सकों ने कटे अंग को जोड़ने के लिए तत्काल प्लास्टिक सर्जरी विभाग के ऑपरेशन थिएटर में भेज दिया। डॉक्टर बृजेश मिश्रा के नेतृत्व में छह सदस्य टीम ने लड़की के हाथ को जोड़ दिया। मरीज का बांया हाथ कलाई के पास से पूरी तरह अलग था और दाहिना हाथ कोहनी के पास से गंभीर रूप से घायल था। फ्लेक्शन टेंडर इन्जरी हथेली के मध्य भाग के साथ तीसरी चौथी तथा पांचवीं उंगली चोटिल हो गई थी। इसके साथ हाथ की नस तथा स्नायु तंत्र चोटिल था मरीज के सिर पर भी गंभीर चोटें और गहरे घाव हैं।

ये भी पढ़ें- किसानों की आत्महत्याओं से उठते कई सवाल

विभाग अध्यक्ष डॉक्टर एके सिंह ने बताया कि मरीज के हाथों की शल्य चिकित्सा के बाद इस की निगरानी एक सप्ताह तक रखी जाएगी उसके बाद ही ऑपरेशन के बारे में पूर्ण रुप से कहा जाएगा अभी हाथ की स्थिति नाजुक है और मरीज गहरी निगरानी में है।

केजीएमयूसर्जरी विभाग के एक डॉक्टर ने एक पब्लिक मैसेज के रूप में गाँव कनेक्शन को बताया, "अगर किसी व्यक्ति का हाथ है अंगुली कुछ कट जाता है तो सबसे पहले उसे सलाइन में भिगोकर एक पट्टी से लपेट कर रख देना चाहिए, दूसरे प्लास्टिक में रखे बर्फ उसे उठे ठंक दें और कटे अंग को सीधे सर्जरी वार्ड में पहुंचाएं।"

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top