बधाई ! आप यमुना एक्सप्रेस वे पर गति का उल्लंघन करने पर ई-चालान पाने वाले पहले बदकिस्मत हैं...

बधाई ! आप यमुना एक्सप्रेस वे पर गति का उल्लंघन करने पर  ई-चालान पाने वाले पहले बदकिस्मत हैं...यमुना एक्सप्रेस वे।

उत्तर प्रदेश के यमुना एक्सप्रेस वे पर अब तेज गति में गाड़ी चलाना आपके लिए भारी पड़ सकता है। यूपी पुलिस ने बुधवार को ई-चालान व्यवस्था की शुरुआत करते हुए अपने पहले ई-चालान की कॉपी को टिवटर पर जारी करते हुए कहा, “बधाई ! आप यमुना एक्सप्रेस वे पर तेज गति का उल्लंघन करने पर ई-चालान प्राप्त करने वाले पहले बदकिस्मत व्यक्ति हैं...”

यूपी पुलिस ने न सिर्फ ई-चालान की कॉपी साझा की है, बल्कि बुधवार को 175 वाहनों के चालान किए हैं। देखा गया है कि यमुना एक्सप्रेस वे पर वाहन चालक निर्धारित सीमा से अधिक कहीं तेज गति में वाहन चलाते हैं, जिससे आए दिन हादसे सामने आते हैं। अब इस व्यवस्था के शुरू होने से यमुना एक्सप्रेस वे पर हादसों में कमी आने की उम्मीद है।

इससे पहले सोमवार को डीजीपी ओपी सिंह ने नोएडा से ई-चालान की शुरुआत की थी। इसी के साथ यमुना एक्सप्रेस वे पर भी हादसों को रोकने के लिए तेज गति में वाहन चलाने पर ई-चालान व्यवस्था की शुरुआत की गई। यूपी पुलिस ने पहला ई-चालान 120 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से वाहन चला रहे व्यक्ति पर काटा है।

बड़ी बात यह है कि एक्सप्रेस वे पर गति का उल्लंघन करने पर ऐप के जरिए ऑटोमैटिक ई-चालान कट जाता है। ऐसे में वाहन चालकों द्वारा नियमों का उल्लंघन करने पर आसानी से यूपी पुलिस उनका चालान काट सकेगी। इसके तहत पहली बार चालान कटने पर 400 रुपए का चालान काटा जाएगा, जबकि दूसरी बार चालान किए जाने पर वाहन चालक को 1000 रुपए भुगतान करने होंगे। अगर ऐसा तीसरी बार होता है तो वाहन चालक का लाइसेंस रद्द कर दिया जाएगा।

इतना ही नहीं, इसके साथ ही चालान की एक कॉपी परिवहन विभाग को भेजी जाएगी।

ये भी पढ़ें- लोग जानते हैं कि वे जब कुछ कहेंगे तो सरकार सुनेगी और करेगी, धीमे बदलाव के दिन गुजर गए: नरेंद्र मोदी

सड़क दुर्घटनाओं में हर रोज 417 लोग गंवा रहे जान, फिर क्यों पास नहीं हो रहा मोटर व्हीकल संशोधन बिल

अब ऑटो, टैक्सी और ई-रिक्शा चालकों को नहीं बनवाना पड़ेगा कामर्शियल ड्राइविंग लाइसेंस

Share it
Share it
Share it
Top