Top

हादसे के बाद कुशीनगर पहुंचे मुख्यमंत्री ने कहा, लापरवाही करने वालों खिलाफ होगी कठोर कार्रवाई 

Diti BajpaiDiti Bajpai   26 April 2018 3:39 PM GMT

हादसे के बाद कुशीनगर पहुंचे मुख्यमंत्री ने कहा, लापरवाही करने वालों खिलाफ होगी कठोर कार्रवाई मुख्यमंत्री ने प्रकट किया दुख

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदत्यिनाथ ने कुशीनगर जिले में दुदही रेलवे स्टेशन के निकट मानव रहित क्रासिंग पर हुए हादसे पर गहरा दु:ख प्रकट करते हुए कहा कि लापरवाही करने वालों के खिलाफ कठोर कार्रवाई होगी।

योगी ने संवाददाताओं से कहा, ''आज प्रात: पता लगा कि दुदही रेलवे स्टेशन के पास मानवरहित क्रासिंग पर दु:खद घटना हुई है। वैन ट्रेन से टकरा गयी, जिससे 13 बच्चों की दु:खद मौत हुई है। लापरवाही के लिए जो जिम्मेदार होगा, उसके खिलाफ सरकार कठोरतम कार्रवाई करेगी।'' योगी ने हादसे में मारे गये बच्चों के परिजनों और घायलों से मुलाकात की।

यह भी पढ़ें- क्या आपके बच्चे की स्कूल वैन कर रही है इन नियमों का पालन

उन्होंने मौके पर जाकर घटना की पूरी जानकारी हासिल की। उन्होंने कहा, ''मैं यहां परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त करने आया हूं। प्रात: ही मैंने इस संबंध में रेलमंत्री से बातचीत की। प्रथम दृष्टया इस मामले में वैन ड्राइवर की गलती सामने आ रही है। ड्राइवर ईयर फोन लगाकर वैन चला रहा था। उसकी आयु को लेकर भी कुछ बातें सामने आ रही हैं। गोरखपुर कमश्निर (आयुक्त) को जांच के आदेश दिये गये हैं।''

मुख्यमंत्री ने कहा कि पहले से कठोर निर्देश थे कि सुरक्षा नियमों का पालन कड़ाई से कराया जाए, खासकर जब स्कूली वाहन से बच्चे जाते हैं तो मानकों का पूरा ध्यान रखा जाए। उन्होंने कहा, ''किन कारणों से ये चीजें (दिशा-निर्देश) फॉलो नहीं हो पायी हैं। मामले के जांच के आदेश दिये गये हैं।'' योगी ने कहा कि आगे से ऐसी दु:खद घटना ना हो, इसकी पुख्ता व्यवस्था की जाएगी।

यह भी पढ़ें- कुशीनगर हादसा : मानव रहित क्रांसिग पर होती है 40 फीसदी मौतें, यूपी में सबसे ज्यादा ऐसी क्रॉसिंग

हादसे में घायलों को गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कालेज भेजा गया है। उन्होंने कहा कि मानवरहित क्रासिंग पर दुर्घटनाएं रोकने के लिए हमने रेल मंत्रालय से ऐसी क्रासिंग मानवयुक्त करने की अपील की है। आवश्यकता होने पर रोड ओवरब्रिज बनाया जाएगा।

यह भी पढ़ें- स्कूल वैन ड्राईवरों की लापरवाही बन रही बच्चों की जान की दुश्मन

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.