सरकार दे रही है सोलर लैम्प फैक्ट्री लगाने का मौका, ऐसे करें अप्लाई

सरकार दे रही है सोलर लैम्प फैक्ट्री लगाने का मौका, ऐसे करें अप्लाईसोलर लैंप।

लखनऊ। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चाहते हैं कि‍ देश में सोलर एनर्जी का इस्‍तेमाल बढ़े और इसके लिए उनकी सरकार कई तरह की स्‍कीम्‍स शुरू की है। इसका असर भी दिखने लगा है और देश में सोलर प्रोडक्‍ट्स की मार्केट तेजी से बढ़ती जा रही है। लोग सोलर पैनल लगाने के साथ-साथ सोलर लैम्‍प, सोलर गीजर, सोलर हीटर जैसे प्रोडक्‍ट्स के प्रति आकर्षित हो रहे हैं। वहीं, मोदी सरकार सोलर प्रोडक्‍ट्स का बिजनेस करने वाले लोगों को भी प्रमोट कर रही है। ऐसे में, आप यदि कोई बिजनेस शुरू करना चाहते हैं तो आप सोलर लैम्‍प बनाने की कंपनी शुरू कर सकते हैं।

सरकार की वजह से बैंक भी ऐसे बिजनेस को लोन देने में काफी इंट्रेस्ट दिखा रहे हैं, इसलिए आपके लिए यह एक अच्‍छा मौका हो सकता है। हम आपको बता रहे हैं कि सोलर लैम्‍प लगाने का प्‍लांट कैसे और कितने में लग सकता है।

ये भी पढ़ें:- आईआरसीटीसी टिकट बुकिंग एजेंट बनकर कर सकते हैं अच्‍छी कमाई, ऐसे करें आवेदन

कितनी आएगी लागत

लघु, कुटीर एवं मध्यम उपक्रम, भारत सरकार (एमएसएमई) प्रौद्योगिकी अध्ययन रिपोर्ट की प्रोजेक्‍ट रिपोर्ट के मुताबिक, वहीं पहले महीने शुरुआती तौर पर 1 लाख 50 हजार रुपए की जरूरत होगी। साथ ही, आपको मशीनरी एवं उपकरण पर 3.50 लाख रुपए खर्च करने होंगे। इसमें आपको ड्रिल मशीन, ग्राइंडर, हाई वोल्‍टेज ब्रेक डाउन टेस्‍टर, ऑटो ट्रांसफार्मर, इंसुलेशन टेस्‍टर, टेस्टिंग सेटअप, डिजिटल मल्‍टीमीटर, वोल्टेज स्‍टबलाइजर, कंप्‍यूटर, प्रिंटर आदि शामिल है। इनके इंस्‍टॉलेशन पर लगभग 1 लाख 5 हजार रुपए खर्च होंगे। यानी कि 5 लाख 30 हजार रुपए का इन्‍वेस्‍टमेंट फिक्‍सड कैपिटल पर करना होगा।

ये भी पढ़ें:- जीआरपी या आरपीएफ को नहीं है रेल यात्रियों के टिकट चेक करने का अधिकार

कच्चे सामान पर कितना होगा खर्च

इसके अलावा पहले 1000 सोलर लैम्‍प बनाने के लिए आपको लगभग 17 लाख रुपए के कच्चे सामान की जरूरत पड़ेगी। इसमें सोलर पीवी मॉड्यूल, बैटरी, एलईडी, स्विच, इनपुट कनेक्‍टर, मॉडर्न प्‍लास्टिक कैबिनेट, फ्यूज, केबल, पीसीबी, सेमी कंडक्‍टर्स, रेसिसटर्स, कैपसिटर्स, ट्रांसिसटर्स, इलेक्‍ट्रो मैकेनिकल कंपोनेंट आदि शामिल है। प्रोजेक्‍ट रिपोर्ट के मुताबिक, एक सोलर लैंप पर लगभग 1700 रुपए का कच्चे सामान का इस्तेमाल होगा।

ये भी पढ़ें:- आसानी से करा सकते हैं ऑनलाइन रेलवे टिकट कैंसिल, ये है तरीका

केंद्र सरकार की 'क्रेडिट गारंटी स्‍कीम' के तहत ले सकते हैं लोन

आप यह फैक्‍ट्री लगाने के लिए केंद्र सरकार का सपोर्ट भी ले सकते हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दो करोड़ रुपए तक के लोन बिना किसी सिक्‍योरिटी के दिलवाया जाता है। आप इसके लिए जिला उद्योग केंद्र से संपर्क कर सकते हैं या लोन के लिए अप्‍लाई करते वक्‍त आप बैंक से कह सकते हैं कि आपको केंद्र सरकार की क्रेडिट गारंटी स्‍कीम के तहत लोन दें। आप बैंकों द्वारा एमएसएमई कैटेगिरी को दिए जाने वाले लोन के लिए अप्‍लाई कर सकते हैं। इस स्‍कीम के तहत आपको 80 फीसदी तक लोन भी मिल सकता है।

ये भी पढ़ें:- यदि आपके पास नहीं है वोटर आईडी कार्ड, तो घर बैठे ऐसे बनवाएं मतदाता पहचान पत्र

कितनी होगी इनकम

लघु, कुटीर एवं मध्यम उपक्रम, भारत सरकार प्रौद्योगिकी अध्ययन रिपोर्ट के मुताबिक, यदि आप साल भर में 12000 सोलर लैम्‍प बनाते हैं तो आपका सारा खर्च मिलाकर 2 करोड़ 43 लाख 66 हजार रुपए खर्च होंगे। जिसमें डेप्रिसिएशन और इंट्रेस्ट भी शामिल हैं। जबकि यदि आप एक लैंप 2200 रुपए के रेट से बेचते हैं तो आपका सालाना टर्नओवर 2 करोड़ 64 लाख रुपए होगा और आपकी कुल बचत 20 लाख 33 हजार रुपए होगी।

ये भी पढ़ें:- जानिए क्या है उजाला योजना, कैसे हर घर को मिलेगा आधी कीमत पर LED बल्ब

ये भी पढ़ें:- किसान ऐसे उठा सकते हैं बायोगैस संयंत्र योजना का लाभ, सरकार देती है भारी सब्सिडी

ये भी पढ़ें:- क्या आप जानते हैं, पेट्रोल-डीजल खरीदते समय आपसे वसूला जाता है यह शुल्क

ये भी पढ़ें:- एक अक्टूबर से बाजार, बैंक, टोलप्लाजा और टेलिकॉम सर्विस के बदल जाएंगे नियम, आपको जानना जरूरी

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top