किसानों के लिए खुशखबरी : ई-नाम पर अब भीम ऐप से भुगतान, क्षेत्रीय भाषाओं की भी सुविधा

Sanjay SrivastavaSanjay Srivastava   22 Feb 2018 1:34 PM GMT

किसानों के लिए खुशखबरी : ई-नाम पर अब भीम ऐप से भुगतान, क्षेत्रीय भाषाओं की भी सुविधामंडियों में संचालित ई-नाम सुविधा । 

नयी दिल्ली। इलेक्ट्रॉनिक राष्ट्रीय कृषि बाजार (ई-नाम) से और ज्यादा किसानों को जोड़ने के लिए सरकार ने इस पर भीम ऐप से मोबाइल भुगतान सेवा की शुरुआत की। साथ ही अन्य कई फीचरों को क्षेत्रीय भाषाओं में पेश किया।

ई-नाम वेबसाइट अब हिंदी और अंग्रेजी के अलावा गुजराती, मराठी, तमिल, तेलगु, बंगाली और उड़िया भाषा में भी उपलब्ध है जबकि ई-नाम पर व्यापार करने की सुविधा भी छह भाषाओं में उपलब्ध है।

ये भी पढ़ें- यूपी संग किस रिश्तों को याद कर विश्व में सबसे अधिक ट्रैक्टर बेचने वाले यह उद्योगपति भावुक हो गए

ई-नाम पोर्टल पर कई नए फीचर जोड़े गए हैं। इसमें एमआईएस डेशबोर्ड का फीचर प्रमुख है जो बेहतर आकलन प्रदान करेगा। भीम एवं अन्य मोबाइल वालेट और डिजिटल भुगतान के विकल्प भी जोड़े गए हैं। साथ ही किसानों का आंकड़ा और ई-लर्निंग मॉड्यूल भी जोड़े गए हैं।

ये भी पढ़ें- प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की अंब्रैला सुरक्षा में कई छेद हैं सरकार !

ये भी पढ़ें- फसल बीमा योजना का लाभ ढेर सारे किसानों को कैसे मिले जनिए सरकार की नई योजना

इन नए फीचरों की शुरुआत करते हुए कृषि मंत्री राधा मोहन सिंह ने कहा, हम ई-नाम पर धीरे-धीरे और फीचर जोड़ रहे हैं ताकि किसानों को ऑनलाइन कारोबार करने में और सुविधा हो सके। ई-नाम एक नई पहल है, इसलिए इसके व्यवधान रहित सहज परिचालन में थोड़ा समय लगेगा।

ये भी पढ़ें- ‘ई-नाम’परियोजना से किसानों को मिलेगी अच्छी कीमत

ये भी पढ़ें- यूपी और मध्य प्रदेश की ई-नाम सुविधा देश में सबसे अच्छी : कृषि मंत्री  

अप्रैल 2016 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देशभर की मंडियों में ई-नाम सुविधा की शुरुआत की, जिसके बाद देशभर के राज्यों में स्थापित बड़ी मंडियों में ई-नाम लैब बनवाने का फैसला किया गया। अभी 14 राज्य एवं एक केंद्रशासित प्रदेश की 479 पंजीकृत थोक मंडियों को ई-नाम से जोड़ा गया है। अगले माह तक यह लक्ष्य 585 मंडियों को जोड़ने का है।

ये भी पढ़ें- ई-नाम मंडियों के संचालन में यूपी अव्वल

ये भी पढ़ें- ढेर सारी सरकारी योजनाओं के मायाजाल में उलझा किसान, नहीं अपनाना चाहता ई-नाम

कृषि व्यापार से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

इनपुट भाषा

फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top