निकाय चुनाव से पड़ेगा धान खरीद पर असर 

निकाय चुनाव से पड़ेगा धान खरीद पर असर तिर्वा कृषि उपमंडी पर लगे धान को बोरे में रखते मजदूर।

मोहम्मद परवेज, स्वयं कम्युनिटी जर्नलिस्ट

तिर्वा (कन्नौज)। जिले में तीसरे और अंतिम चरण में होने वाला निकाय चुनाव धान खरीद पर असर डालेगा। कारण, मंडी समितियां बंद रहेंगी, जिससे किसानों को एक सप्ताह तक इंतजार करना पड़ेगा।

ये भी पढ़ें: धान खरीद के लिए सहकारी बैंकों को 40.22 करोड़ रुपए की अग्रिम राशि जारी

कन्नौज जिले की तीन नगर पालिका परिषद और पांच नगर पंचायत क्षेत्रों के मतों की गिनती का काम कृषि मंडी समिति कन्नौज, उप मंडी समिति तिर्वा और कृषि मंडी समिति छिबरामऊ में होगा। मतगणना वाले दिन सभी मंडी समितियां बंद रहेंगी। जिला निर्वाचन अधिकारी जगदीष प्रसाद ने अधिग्रहण को लेकर पत्र भी जारी कर दिया है। तिर्वा में तो करीब एक सप्ताह मंडी समिति बंद रहेगी। यहां प्रशिक्षण और मतगणना दोनों का ही काम चलेगा। साथ ही मतपेटिकाएं भी सील कर रखी जाएंगी।

तिर्वा तहसील क्षेत्र के दौलेपुर गाँव के किसान रामनरेश (56 वर्ष)बताते हैं, ‘‘मंडी समिति किसानों की सुविधा के लिए बनाई गई हैं न कि मतगणना के लिए। हम तो आज अपना माल बेंचे जा रहे हैं लेकिन सरकार को चाहिए कि मतगणना के लिए कोई अन्य सरकारी भवन अधिग्रहण करे, जिससे किसानों को दिक्कत न हो।’’

ये भी पढ़‍ें: सरकारी धान खरीद केंद्र पड़े सूने, बस कागजों में हो रही बंपर खरीद

जनेशपुर गाँव के मुन्नालाल (60 वर्ष) बताते हैं, ‘‘सरकारी काम न रुके चाहे किसान मर जाए। जब देखो तब मंडी समिति ही मिलती है। हम लोगों को मजबूरीवष अनाज कम दामों में पल्लों पर बेचना पड़ता है। सरकार को चाहिए कि इस दौरान मंडी को खाली स्थान पर लगवाना चाहिए। या मतगणना के लिए कोई दूसरी जगह तलाष करे। जिससे किसानों को कोई दिक्कत न हो और नुकसान भी न उठाना पड़े।’’

गल्ला आढ़ती सतीष गुप्ता (45 वर्ष) ने बताया, ‘‘एक बार मंडी बंद होने से हम लोगों के करीब 15 दिन खराब हो जाते हैं। इस बीच सारा कारोबार बंद हो जाता है। हम अगर इस दौरान कहीं पर भी बैठकर माल खरीदते हैं तो उसे अवैध कारोबार माना जाता है। प्रधानी की मगणना में भी इसे अधिग्रहण किया जाना था। तब हम सभी लोगों ने मिलकर उपजिलाधिकारी के सामने अपनी समस्या रखी थी तब मतगणना डीएन इंटर काॅलेज तिर्वा में कराई गई थी। इस बार कोई सुनने को तैयार नहीं है।’’

ये भी पढ़ें: गाँव कनेक्शन विशेष-कई ज़िलों में नहीं शुरू हुई धान खरीद,पढ़ें पूरी रिपोर्ट

मंडी प्रभारी अनिल कुमार कटियार बताते हैं, ‘‘मंडी समिति में नगर निकाय की मतगणना होनी है। जिसकी सूचना सभी लोगों को दी जा चुकी है कि 24 तारीख तक मंडी खाली कर दें। मंडी करीब एक सप्ताह बंद रहेगी। अनुमान है कि पांच लाख रूपए का नुकसान भी होगा। मंडी अभी कहीं शिफ्ट करने का कोई आदेश प्राप्त नहीं हुआ है। अभी खाली कराने के लिए कहा गया है उसका पालन होगा।’’

दूसरी ओर एसडीएम सदर शालिनी प्रभाकर ने बताया कि मतदान वाले दिन तो सार्वजनिक अवकाश है बंदी रहेगी। मतगणना वाले दिन कन्नौज की मंडी का एक छोर अधिग्रहण किया जा रहा है। एक दिन ही बंद रहेगी।

मैं मंडी गया था वहां पर कोई ऐसा विरोध नहीं है। सब सहमत हैं अगर कोई ऐसी समस्या है तो जिलाधिकारी के समक्ष रखेंगे। रही किसानों की बात तो इस दौरान वैकल्पिक व्यवस्था करेंगे।
डॉ. अरूण कुमार सिंह, एसडीएम, तिर्वा- कन्नौज

मंडी समितियों में हैं सरकारी केंद्र

सरकारी खरीद केंद्र मंडी समितियों में भी हैं। निकाय चुनाव की प्रक्रिया के दौरान यह केंद्र भी बंद हो जाएंगे। मतदान कर्मियों और मतगणना कर्मियों का प्रशिक्षण होगा। मतपेटिकाएं भी रखी जाएंगी। पहली दिसम्बर को मतगणना वाले दिन भी बंदी रहेगी। तिर्वा में दो केंद्र हैं वहां भी खरीद प्रभावित होगी।

  • जनपद कन्नौज में सात एजेंसियों के 35 खरीद केंद्र खोले गए हैं।
  • विपणन शाखा के छह, पीसीएफ के 11, कर्मचारी कल्याण निगम, भारतीय खाद्य निगम और यूपी एग्रो के दो-दो केंद्र, एनसीसीएफ के तीन और नेफेड के नौ केंद्र खोले गए हैं।
  • इस बार आढ़तों को सरकारी खरीद केंद्र से दूर रखा गया है।
  • एक नवम्बर से 28 फरवरी 2018 तक धान खरीद होगी।
  • इस साल तीन लाख 57 हजार कुंतल धान खरीद का लक्ष्य है।
  • पिछले साल तीन लाख 47 हजार कुंतल धान खरीदी गई थी जबकि लक्ष्य दो लाख 78 हजार कुंतल का था।
  • केंद्र खुलने का समय सुबह नौ बजे से शाम पांच बजे तक का है।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top