विदेशी जमीन पर पहला क्लीन स्वीप कर ‘विराट सेना’ ने रचा इतिहास 

विदेशी जमीन पर पहला क्लीन स्वीप कर ‘विराट सेना’ ने रचा इतिहास विदेशी जमीन पर पहला क्लीन स्वीप

नई दिल्ली। विराट सेना ने श्रीलंका को उसी की सरजमीं में 3-0 से हराकर विदेश में पहली बार तीन टेस्ट मैचों की सीरीज में क्लीन स्वीप कर इतिहास रच दिया है। भारत के 85 साल के टेस्ट इतिहास में इससे पहले कभी भी टीम इंडिया ने विदेश में तीन टेस्ट मैचों की सीरीज में 3-0 से जीत हासिल नहीं की थी।

सोमवार को टीम इंडिया ने कैंडी में सीरीज के तीसरे टेस्ट में श्रीलंका को एक पारी और 171 रनों से हराकर आखिरकार यह चमत्कार कर ही दिया। श्रीलंका भारत की पहली पारी में 487 रनों के जवाब में पहली पारी में महज 135 रनों पर ऑल आउट हो गई। भारत से 352 रन से पिछड़ने के बाद कप्तान विराट कोहली ने श्रीलंका को फालोआन दिया। फालोआन खेलते हुए श्रीलंका ने दूसरी पारी में 181 रन बनाए।

ये भी पढ़ें : गोरखपुर का एक गाँव, जहाँ हर घर में इंसेफ़्लाइटिस ने जान ली है

तीसरे दिन लंच के ठीक बाद दिनेश चंडीमल 36 रन बनाकर कुलदीप यादव का शिकार बने। उन्हें यादव की गेंद पर चेतेश्वर पुजारा ने लपका। इसके कुछ देर बाद ही एंजेला मैथ्यूज को अश्विन ने पगबाधा आउट कर दिया।
मैथ्यूज ने 35 रन बनाए। इसके कुछ देर बाद ही 8 रन के व्यक्तिगत स्कोर पर दिलरूआन परेरा को अश्विन की गेंद पर हार्दिक पांड्या ने लपका। मोहम्मद शमी ने विकेट के पीछे संदाकन को साहा के हाथों कैच कराया। संदाकन ने 8 रन बनाए।

ये भी पढ़ें : हजारों बच्चों की जान लेने वाल इंसेफ्लाइटिस आख़िरकार बना राष्ट्रीय मुद‌्दा

विकेट कीपर डिकवेला को उमेश यादव ने अजिंक्य रहाणे के हाथों कैच कराया। डिकवेला ने 41 रन बनाए। अंतिम विकेट के रूप में लहिरा कुमार को 10 रन के व्यक्तिगत स्कोर पर अश्विन ने बोल्ड कर श्रीलंका की पारी को खत्म किया। टीम इंडिया की ओर से दूसरी पारी में अश्विन ने 4 तथा मोहम्मद शमी ने 3 विकेट लिए। उमेश यादव ने दो तथा कुलदीप यादव ने 1 विकेट लिया।

पहली पारी में 108 रन बनाने वाले हार्दिक पांड्या को मैन ऑफ द मैच घोषित किया गया। जबकि शिखर धवन को मैन ऑफ द सीरीज का पुरस्कार दिया गया। धवन ने सीरीज में दो शतक लगाए।

ये भी पढ़ें : गोरखपुर : डॉक्टरों का दर्द- ‘काफी दबाव में करना पड़ता है काम, कभी-कभी खाने पड़ते हैं जूते’

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top