अछल्दा अस्पताल परिसर में जमा पानी दे रहा खतरे को बुलावा

अछल्दा अस्पताल परिसर में जमा पानी दे रहा खतरे को बुलावातालाब बना अछल्दा का अस्पताल।

विमल यादव, स्वयं कम्युनिटी जर्नलिस्ट

अछल्दा/औरैया। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र अछल्दा के परिसर में पहली बरसात से ही तालाब जैसा नजारा दिखाई दे रहा है। वर्तमान में हालात ये है कि परिसर में मरीजों को आने जाने में भी काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। अस्पताल प्रबंधन द्वारा परिसर से पानी निकालने की भी कोई व्यवस्था नहीं किए जाने से मरीजों व उनके परिजनों को घुटने भर पानी में होकर इलाज कराने जाना पड़ रहा है।

जल भराव की समस्या से निजात दिलाने के लिए हर संभव प्रयास किया जाएगा। मरीजों को किसी प्रकार की कोई परेशानी नहीं होने दी जाएगी।
गिरीश कुमार मिश्रा, सीएमओ

बरसात के मौसम में जहां मच्छर व बीमारियों ने पैर पसारने शुरू कर दिए है। वहीं अस्पताल में ही व्याप्त अव्यवस्था से स्वास्थ्य महकमें पर सवालिया निशान खड़ा हो गया है। अस्पताल तक पहुंचने में कई बार मरीजों के स्लीप करके गिरने जैसी घटनाएं भी सामने आ चुकी हैं। अस्पताल में भरे पानी को निकलवाने के लिए कस्बे और आस-पास के लोगों ने स्वास्थ्य विभाग से गुहार लगाई, लेकिन किसी ने इस ओर अभी तक ध्यान नहीं दिया।

ये भी पढ़ें : बारिश ने खोली बहराइच जिला अस्पताल और नगर पालिका की पोल

साजनपुर निवासी राज कुमार (40वर्ष) का कहना है, ”अस्पताल में पानी भरा होने की वजह से दवा लेने में परेशानी हो रही है पानी में घुसकर अस्पताल तक पहुंचना मुश्किल होने के साथ ही खतरे से कम नहीं।” जबकि, नेविलगंज निवासी अनिल कुमार (30वर्ष) का कहना है, ''पानी का निकास न होने की वजह से पानी भर रहा है अस्पताल में आने वाले मरीजों को काफी मशक्कत उठानी पड़ रही है।”

अछल्दा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के प्रभारी चिकित्साधिकारी डॉ. सिद्धार्थ शंकर का कहना है, ''अस्पताल परिसर ऊंची जगह पर होने की वजह से जल भराव की समस्या है। मरीजों को परेशानी हो रही है पानी को निकालने के लिए नगर पंचायत ने कोई व्यवस्था नहीं की है।”

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top