जिपं अध्यक्ष पद का अविश्वास प्रस्ताव पास

जिपं अध्यक्ष पद का अविश्वास प्रस्ताव पासअविश्वास प्रस्ताव पास कराने के लिए सदर ब्लाक में बैठक बुलाई गई।

स्वयं प्रोजेक्ट डेस्क

औरैया। जिला पंचायत अध्यक्ष पद के लिए अविश्वास प्रस्ताव पास कराने के लिए सदर ब्लाक में बैठक बुलाई गई। सपा और भाजपा के लोग सुबह से ही ब्लाक में इकटठा होने शुरू हो गए। 10 बजे से शुरू हुई सदन की कार्रवाई एक बजे समाप्त हो गई। भाजपा की तरफ से 14 सदस्यों ने उपस्थित होकर अपने बयान दर्ज कराए।

ये भी पढ़ें- एक और ‘हेट क्राइम’...मलेशिया में भारतीय मूल के युवक को पीटने के बाद किया यौन शोषण, मौत

जिला मुख्यालय से 10 किलोमीटर दूर शहर में सदर ब्लाक में अविश्वास प्रस्ताव की बैठक हुई। बैठक से पहले जिले का फोर्स पूरी तरह से मुस्तैहद रहा। समाजवादी पार्टी के जिला पंचायत अध्यक्ष राजवीर सिंह यादव के खिलाफ भाजपा के दीपू सिंह राजावत ने जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव लडा था। उस समय सपा के शासन में होने की वजह से दीपू सिंह हार गए और राजवीर यादव जीत गए। सपा से अपनी राजनीति शुरू करने वाले दीपू सिंह पूर्व राज्यमंत्री मो. इरशाद को जिला पंचायत का टिकट सपा से न मिलने की वजह से बगावत कर सपा प्रत्याशी के खिलाफ भाजपा की तरफ से चुनाव लड़ा था।

ये भी पढ़ें: जिस मुद्दे पर देशभर में हुआ था विवाद, उस पर केरल की 17 मस्जिदों ने लिया सराहनीय फैसला

सपा सरकार जाते है दीपू सिंह ने सदस्यों से मिलकर अविश्वास प्रस्ताव पास करा दिया। सुबह 10 बजे से शुरू हुई सदन की कार्रवाई में भाजपा की तरफ से 14 सदस्यों ने अपने द्वारा दिए गए शपथ पत्र के बारे में बयान दर्ज कराए। वहीं सपा की तरफ से स्वयं राजवीर यादव और एक सदस्य उपस्थित हुआ। सदन की कार्रवाई 1 बजे तक चली जिसमें अविश्वास प्रस्ताव पास कर दिया गया।

अविश्वास प्रस्ताव पास होने पर भाजपाईयों ने जमकर नारे लगाए। जिले के सभी भाजपा पदाधिकारियों में खुशी की एक लहर सी दिखाई दी। चुनाव न होने तक विभाग का कार्य डीएम की देखरेख में होगा।

पार्टी तय करेगी अध्यक्ष पद का प्रत्याशी

भाजपा के अनुमानित प्रत्याशी दीपू सिंह राजावत और मंजू सिंह से जिला पंचायत अध्यक्ष पद प्रत्याशी को लेकर सवाल किया गया तो कहा कि इसका फैसला पार्टी तय करेगी। जिले के सभी पदाधिकारी बैठक कर जिला पंचायत अध्यक्ष का प्रत्याशी किसे बनाया जाए, इस पर फैसला बाद में लिया जाएगा।

Share it
Top