Top

देश की सब्जियां विदेश तक पहुंचाने का काम भी कर रहा है मैंगो पैक हाउस  

Devanshu Mani TiwariDevanshu Mani Tiwari   23 Jun 2017 6:21 PM GMT

देश की सब्जियां विदेश तक पहुंचाने का काम भी कर रहा है मैंगो पैक हाउस  मैंगो पैक हाउस के माध्यम से सरकार सब्जियों की प्रोसेसिंग कर उन्हें विदेशों तक भेज रही है।

स्वयं प्रोजेक्ट डेस्क

लखनऊ। प्रदेश में स्थापित किए गए मैंगो पैक हाउसों में अभी तक आम का प्रसंस्करण कर उन्हें विदेशों तक भेजा जाता था, लेकिन तीन महीने तक चलने वाले आम के सीज़न के बाद पैक हाउस बंद रहते थे। मैंगो पैक हाउस के माध्यम से सरकार अब हरी सब्जियों की प्रोसेसिंग कर उन्हें विदेशों तक भेज रही है।

उत्तर प्रदेश में वर्ष 2013 से मैंगो पैक हाउस की मदद से सब्जियों के प्रसंस्करण व इसका निर्यात किया जा रहा है। लखनऊ के रहमानखेड़ा स्थित मैंगो पैक हाउस में सब्जियों की प्रोसेसिंग कर उनके निर्यात पर कृषि उत्पादन मंडी परिषद में एक्पोर्ट सेल के प्रमुख सतीश सिंह बताते हैं, “हम पिछले तीन वर्षों से मैंगो पैक हाउस (लखनऊ) की मदद से प्रसंस्कृत मिर्च, लौकी व हरी सब्जियों को विदेशों तक भेज रहे हैं। इसमें हमारे साथ देश की कई निर्यातक जुड़े हैं, जो किसानों से सीधे तौर पर सब्जियां खरीदते हैं और उन्हें निर्यात के लिए सीधे पैक हाउस तक भिजवा देते हैं।’’

ये भी पढ़ें- कृषि वैज्ञानिक बदल रहे हैं गाँवों की तस्वीर

किसान मंडी परिषद से प्राप्त जानकारी के अनुसार उत्तर प्रदेश में कृषि और प्रसंस्कृत खाद्य उत्पाद निर्यात विकास प्राधिकरण (एपीडा) से स्वीकृति मिलने के बाद सहारनपुर मैंगो पैक हाउस से वर्ष 2013 और लखनऊ के मैंगो पैक हाउस से वर्ष 2014 में आम के अलावा मौसमी हरी सब्जियों और अन्य फलों को विदेशों में निर्यात किया जा चुका है।

वर्ष 2017 तक पैक हाउस की मदद से 200 मीट्रिक टन से अधिक हरी सब्जियों का निर्यात विदेशों तक किया जा चुका है।किसानों से बड़ी मात्रा में मिर्च खरीदकर मैंगो पैक हाउस के माध्यम से विदेशों तक मिर्च का निर्यात कर रही है। नवी मुंबई की खुशी इंटरनेशनल कंपनी मंडी परिषद के सबसे पुराने निर्यातकों में से एक है।

कंपनी के व्यापार अधिकारी बाबूलाल बी बराई ने बताया, “हम बाराबंकी, सीतापुर, हरदोई और लखनऊ जिलों में किसानों से मिर्च की कॉन्ट्रैक्ट खेती (ठेके पर) करवाते हैं। इसमें हम किसानों को खेती के लिए उर्वरकों का खर्चा, सिंचाई व बीज का खर्चा खुद देते हैं। इसके बाद उपज मिलने पर हम मार्केट रेट से 10 प्रतिशत अधिक रेट पर किसानों से मिर्च खरीद कर पैक हाउस की मदद से विदेशों में भेजते हैं।’’

ये भी पढ़ें-किसान आंदोलन से प्रभावित होगी खरीफ की बुवाई, पैदावार पर भी पड़ेगा असर

इन देशों में किया गया सब्जियों का निर्यात

कृषि उत्पादन मंडी परिषद द्वारा जारी की गई वार्षिक फल एवं सब्जियों की निर्यात सूची के अनुसार वर्ष 2014 से वर्ष 2017 तक मैंगो पैक हाउस के माध्यम से दुबई, कुवैत, कतर, ओमान, सऊदी अरब, दोहा, यूएई, जर्मनी, जेनेवा, लंदन, इटली, नीदरलैंड व रोम में सब्जियों का निर्यात किया जा चुका है।

एक्पोर्ट सेल के प्रमुख सतीश सिंह बताते हैं,“प्रदेश में सब्जियों के बेहतर निर्यात के लिए मैंगो पैक हाउस में हमारे पास इस समय आधुनिक कोल्ड रूम, प्री-कोल्ड रूम, हॉट वाटर डिप ट्रीटमेंट और प्रोसेसिंग ग्रेडिंग लाइन जैसी सुविधाएं मौजूद है। इसमें प्रसंस्करण से लेकर इसकी पैकेजिंग तक सब्जियों की गुणवत्ता का ध्यान रखा जाता है। इससे विदेशों तक ताज़ी हरी सब्जियां भेजना और भी आसान हो गया है।’’

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.