औरैया के इस गाँव में आधे से अधिक लोगों के पास नहीं है राशन कार्ड

औरैया के इस गाँव में आधे से अधिक लोगों के पास नहीं है राशन कार्डगाँव के लोग।

रहनुमा बेगम

स्वयं कम्युनिटी जर्नलिस्ट

औरैया। विकास खंड औरैया की ग्राम पंचायत जसवंतपुर में रहने वाले ग्रामीणों के पास से अधिक लोगों के पास राशन कार्ड नहीं है। इससे गरीब लोगों के चूल्हे जलने मुश्किल हो रहे है। ग्रामीणों ने प्रधान और कोटा डीलर पर कार्ड न बनवाए जाने का आरोप लगाया है।

जिला मुख्यालय से 27 किलोमीटर दूर बीहडी इलाके में बसे गाँव जसंवतपुर के लोग अधिकारियों और जन प्रतिधिनियों की तरफ निहार रहे है। ग्रामीणों को आस है कि गाँव में कोई ऐसा जन प्रतिनिधि जरूर आएगा तो ग्रामीणों की समस्याओं को सुनेगा और उनका निदान भी कराएगा। गाँव के आधे से अधिक लोगों के पास राशन कार्ड नहीं है।

ये भी पढ़ें- 21 तारीख़ को किसान लखनऊ एयरपोर्ट के सामने करेंगे योग, पूरे देश में होगा आंदोलन

गाँव की सबसे बड़ी समस्या है कि सरकारी योजनाओं में राशन कार्ड की प्रति मांगी जाती है जो वह लगा नहीं पाते है। गाँव के लोगों का कहना है कि राशन कार्ड के फार्म भरकर डीलर के पास जमा कर दिए गए थे। तीन बार गांव के लोग फार्म भर चुके है लेकिन अभी तक कार्ड बनकर नहीं आए है। इससे गांव के लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। इनमें से कुछ ऐसे भी गरीब लोग है जिनके पास राशन कार्ड न होने की वजह से उनके चूल्हे ठंडे पडे रहते हैं।

गाँव जसवंतपुर निवासी अनसुईया देवी (28वर्ष) का कहना है, “प्रधान और डीलर ने राशन कार्ड नहीं बनाया है तीन बार फार्म भरकर दिया जा चुका है।” वहीं इसी गाँव के जसवंतपुर निवासी सुमन देवी (32वर्ष) का कहना है, “राशन कार्ड बनवाने के लिए प्रधान, सेके्रटरी, एडीओ और बीडीओ से गुहार लगाई लेकिन राशन कार्ड नहीं बन सका।”

ये भी पढ़ें- एक और ‘हेट क्राइम’...मलेशिया में भारतीय मूल के युवक को पीटने के बाद किया यौन शोषण, मौत

सभी के बनाए जांएगे राशन कार्ड

जिला पूर्ति अधिकारी दिलीप कुमार ने बताया “जिले में जिन लोगों के राशन कार्ड छूट गए है पुनः साइट खोल दी गई है वह आवेदन कर दें। लेखपाल और सेक्रेटरी से सत्यापन करा दें इससे कार्ड डी बन जाएगा और खाद्यान्न भी आवंटन कर दिया जाएगा।”

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top