अब उत्तर प्रदेश के किसानों को पंजीकरण के बिना नहीं मिलेगी अनुदान राशि

Jitendra TiwariJitendra Tiwari   19 Jun 2017 10:26 AM GMT

अब उत्तर प्रदेश के किसानों को पंजीकरण के बिना नहीं मिलेगी अनुदान राशिऑनलाइन रजिस्ट्रेशन से किसानों काे मिलेगा लाभ।                   फोटो- प्रमोद अधिकारी

स्वयं प्रोजेक्ट डेस्क

गोरखपुर। किसानों को सरकार की योजनाओं का लाभ लेने के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कराना होगा। कृषि विभाग की ओर से किसानों को इसके बारे में लगातर प्रेरित किया जा रहा है। ताकि सभी किसानों का रजिस्ट्रेशन जल्द से जल्द हो सके। यहां तक कि प्रत्येक न्याय पंचायत स्तर एक किसान मित्र की ड्यूटी भी लगाई है। बावजूद इसके किसान रजिस्ट्रेशन कराने में कोई खास रुचि नहीं ले रहे हैं।

दरअसल, सरकार की ओर से किसानों की योजनाओं को पारदर्शी बनाने व घपलेबाजी से बचने के लिए किसानों का ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन किया जा रहा है। इसके लिए किसानों को डब्ल्यू डब्ल्यू डब्ल्यू डॉट यूपी एग्रीकल्चर डॉट कॉम (WWW.UP Agriculture.Com) वेबसाइट पर जाकर रजिस्ट्रेशन कराना होगा। रजिस्ट्रेशन के दौरान खतौनी, बैंक पासबुक और आधार कार्ड जरूरी है। वहीं जिन किसानों को रजिस्ट्रेशन कराने में दिक्कत आ रही है, इसके लिए कृषि विभाग द्वारा न्याय पंचायत स्तर पर किसान मित्र व ब्लॉक स्तर कृषि अधिकारियों की ड्यूटी भी लगाई गई है। ताकि जल्द से जल्द किसानों का ऑनलाइन रजिट्रेशन किया जा सके।

ये भी पढ़ें- गाँवों में कभी नहीं दिखे फ़सल का बीमा करने वाले

इस पर मिलता रहा है किसानों को अनुदान

खाद-बीज, सूक्ष्म तत्व, कृषि यंत्र, जिंक सल्फेट, कृषि रक्षा रसायन पर किसानों को अनुदान दिया जाता है, इस पर मिलने वाली अनुदान को पारदर्शी बनाने के लिए सरकार की ओर से किसानों के हित में यह व्यवस्था लागू की गई है। ताकि किसानों को मिलने वाली अनुदान राशि सीधे उनके बैंक खाते में पहुंच जाए।

पाली ब्लॉक के टकठा गाँव निवासी पदमाकर त्रिपाठी (55 वर्ष) ने बताया, “ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन के बारे में जानकारी मिली है, खरीफ का सीजन शुरू होने के चलते यह काम हो नहीं पा रहा है। सरकार की योजना अच्छी है। शीघ्र ही यह कार्य करा लिया जाएगा।” पाली ब्लॉक के बनकटिया गाँव निवासी पौहारीशरण शर्मा (50 वर्ष) का कहना है, “ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन के लिए किसान मित्र आए थे। फोटो, आधार कार्ड व बैंक की पासबुक को इक्ट्ठा करवा रहा हूं। शीघ्र ही पंजीकरण करा लूंगा। इससे अनुदान की राशि पारदर्शी व्यवस्था के तहत खाते में आ जाएगी।”

ये भी पढ़ें- तराई क्षेत्र में कर रहे मुनाफे की खेती

सरदारनगर ब्लॉक के खैराबाद गाँव निवासी राजकुमार व्यास (50 वर्ष) ने बताया, “सरकार की मंशा साफ है, इससे किसानों को काफी लाभ मिलेगा। समय के अभाव के चलते पंजीकरण नहीं करा पाया हूं। यह व्यवस्था लागू होने के किसान का हक मारा नहीं जाएगा। अनुदान की राशि बैंक खाते में आ जाएगी।” सरदारनगर ब्लॉक के बाल बुजुर्ग गाँव निवासी महेश गौड़ (65 वर्ष) ने बताया, “ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन के लिए ब्लॉक स्तर के कर्मचारी समझा रहे हैं।”

जिला कृषि अधिकारी अरविंद कुमार चौधरी ने बताया कि किसानों को शासन की योजनाओं का लाभ लेने के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कराना होगा, अगर जो किसान रजिस्ट्रेशन नहीं कराएगा, उसे सरकारी अनुदान या राहत से वंचित रहना पड़ेगा। किसानों को चाहिए कि जल्द से जल्द रजिस्ट्रेशन करा लें। इस कार्य में दिक्कत आने पर न्याय पंचायत स्तर पर किसान मित्र व ब्लॉक स्तर पर मातहतों की ड्यूटी लगाई गई है। ताकि सभी किसानों का समय रहते रजिस्ट्रेशन किया जा सके।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top