लाखों खर्च के बाद भी नहीं बदल रही शहर की तस्वीर

लाखों खर्च के बाद भी नहीं बदल रही शहर की तस्वीरशहर के हर मोहल्ले में लगे हुए हैं कूड़े के अंबार

राजेन्द्र भदौरिया, स्वयं कम्युनिटी जर्नलिस्ट

उन्नाव। शहर में स्वच्छता मिशन कार्यक्रम के तहत हर माह लाखों रुपए खर्च किए जा रहे हैं, लेकिन शहर की तस्वीर बदलती नहीं दिखाई दे रही। शहर के हर मोहल्ले में कूड़े के अंबार लगे हुए हैं। नालियां चोक हैं, जिससे नालियों का पानी सडक़ों पर भर रहा है। कूड़ा निस्तारण में भी जमकर मनमानी की जा रही है। शहर का यह हाल तब है कि जब डीएम ने खुद नगर पालिका के सभी वार्डों में एक एक नोडल अधिकारी नामित कर रखा है, लेकिन अधिकारियों को सफाई व्यवस्था से कोई लेना देना नहीं।

शिक्षा का पाठ पढ़ाने वालों के कार्यालय ही स्वच्छ भारत मिशन का बन रहे मजाक

शहर में दिन पर दिन बेपटरी हो रही सफाई व्यवस्था को सुधारने के लिए एक माह पूर्व जिलाधिकारी अदिति सिंह ने नई पहल की थी। उन्होंने अपने अफसरों को नगर पालिकाके वार्डों की जिम्मेदारी सौंपी थी। नगर पालिका में आने वाले 32 वार्डों की जिम्मेदारी जिन अफसरों को सौंपी गई थी, उन्हें निर्देश दिए गए थे कि वह अपने अपने वार्ड कानिरीक्षण कर वहां सफाई व्यवस्था को बेहतर कराने की जिम्मेदारी निभाएंगे।

स्वच्छ भारत मिशन के तहत लोगों को जागरूक करने के लिये उत्तराखंड के सीएम ने थामी झाड़ू

जिलाधिकारी के निर्देश के बाद एक दो अधिकारियों ने तो वार्ड का निरीक्षण किया और सफाई व्यवस्था बेहतर कराने की पहल की लेकिन दिन गुजरने के बाद अभियान ठंडेबस्ते में चला गया। बताया जा रहा है कि डीएम के निर्देश के बाद जिन अधिकारियों ने वार्ड का निरीक्षण किया था। उन्होंने अपनी रिपोर्ट नगर पालिका को भेजी थी लेकिननगर पालिका ने अधिकारियों द्वार भेजी गई रिपोर्ट के आधार पर भी सफाई कराना गवारा नहीं समझा। जिससे मौजूदा समय में शहर की सडक़ों पर ही आपको कूड़े के ढेरमिल जाएंगे।

शहर के मोहल्ला गिरिजा बाग निवासी हरेंद्र सिंह (32वर्ष )बताते हैं, “ उनके मोहल्ले में नियमित तौर पर सफाई नहीं होती। इससे मोहल्ले में गंदगी भरी रहती है। कई बारशिकायत करने के बाद ही सफाई कर्मचारी सफाई कराते हैं। ”

मोहनलालगंज : स्वच्छ भारत अभियान कैसे हो सफल जब परिषदीय विद्यालय में शौचालय की स्थिति हो इतनी जर्जर

शहर के आवास विकास में रहने वाले मनोज भदौरिया (21वर्ष) बताते हैं, “ सफाई न होने से हर समय संक्रामक रोगों का खतरा बना रहता है। नगर पालिका अधिशाषीअधिकारी से हर बार शिकायती करनी पड़ जाती है।”

सफाई को लेकर नगर पालिका में तैनात सफाई इंस्पेक्टर सुग्रीव से बात की गई तो उन्होंने बताया,“ लगातार सफाई के लिए वार्ड का निरीक्षण किया जा रहा है।यदि कहीं लापरवाही बरती गई है तो संबंधित कर्मचारी को नोटिस जारी किया जाएगा। ”

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top