लाखों रुपए खर्च करके बना सचिवालय, उपयोगिता रत्ती भर नहीं

लाखों रुपए खर्च करके बना सचिवालय, उपयोगिता रत्ती भर नहींसविचालय।

हरिनरायण शुक्ला

स्वयं प्रोजेक्ट डेस्क

गोंडा। जिले के रूपईडीह विकास खंड की ग्राम पंचायत अनेगी में बना सचिवालय तबेला बन गया है। हालत यह है कि सचिवालय के परिसर में हर समय गाँव के आवारा पशु घुसे रहते है क्योंकि यहां पर ग्रामीणों ने भूसा रखना शुरू कर दिया है।पिछले पांच वर्षों से सचिवालय में एक भी खुली बैठक नहीं हुई है।

ये भी पढ़ें- IND vs BAN LIVE : बांग्लादेश ने बनाए 264 रन, फाइनन में पहुंचने के लिए भारन को बनाने होंगे 265 रन

जिला मुख्यालय से 17 किलोमीटर दूर ग्राम पंचायत अनेगी में सचिवालय का निर्माण तत्कालीन डीएम राम बहादुर के समय शुरू हुआ, लेकिन दो साल तक पूरा नहीं हो पाया। कार्यदायी संस्था जिला पंचायत स्वयं रही। यहां पर चाहरदीवारी, हैंडपंप, शौचालय, बैठक कक्ष, प्रधान कक्ष, सचिव कक्ष बनाया गया है, लेकिन देखरेख के आभाव में सब खराब हो गए हैं।

ग्रामीण बाबूलाल (56 वर्ष) का कहना है,“सचिवालय के निर्माण के समय यहां पर कार्य की गुणवत्ता के साथ मजाक हुआ है। यहां पर बनाए गए शौचालय के गडढे का ढक्कन भी आज तक नहीं ढका गया है।” सचिवालय की बदहाली के बारे में ग्राम प्रधान भोलानाथ ने बताया,'' सचिवालय की हालात बैठक के लायक नहीं है। जिस गाँव में सचिवालय बना था, वहां पूर्व प्रधान का घर है इसलिए वहां पर लोगों का सहयोग नहीं मिल पा रहा है।''

ये भी पढ़ें- आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी 2017: इन पांच खिलाड़ियों की बदौलत भारत एक बार फिर बनेगा चैंपियन

वहीं इस मामले पर जिला अपर मुख्य अधिकारी, पंचायती राज अधिकारी सत्यपाल का कहना है,“ यह प्रकरण अभी हमारे संज्ञान में नहीं आया है। सचिवालय का सुधार प्रधान चाहे तो राज्यवित्त से करा सकता है। अगर सचिवालय के निर्माण नहीं किया गया है,तो जांच करवाकर इसपर कार्यवाई की जाएगी।”

Share it
Top