‘पैसा का डर रहता है इसलिए प्राइवेट में बेचते हैं धान’

Ajay MishraAjay Mishra   10 Nov 2017 2:58 PM GMT

‘पैसा का डर रहता है इसलिए प्राइवेट में बेचते हैं धान’फोटो: गाँव कनेक्शन 

रवीन्द्र सिंह/स्वयं कम्युनिटी जर्नलिस्ट

सकरावा (कन्नौज)। एक नवम्बर से धान की खरीद शुरू हो चुकी है। सरकारी केंद्रों पर सुस्त चाल है। कई केंद्र पूरी तरह से शुरू भी नहीं हो पाए हैं। कुछ केंद्र सन्नाटे पर हैं, जहां एक भी दाना नहीं खरीदा गया है।

कन्नौज जिले में धान खरीद केंद्रों की हकीकत जानने के लिए ‘गाँव कनेक्शन’ ने पड़ताल भी की। दबी जुबान से कुछ लोगों ने बताया कि यहां का केंद्र आज ही शुरू हुआ है। जिला मुख्यालय से करीब 75 किमी दूर सौरिख ब्लाक क्षेत्र के ग्राम पट्टी के 40 वर्षीय किसान मनोज कुमार बताते हैं, ‘‘मुझे पैसों का डर रहता है कि सरकारी पैसा कब मिले। सभी लोग नहीं ला रहे हैं सरकारी केंद्र पर तो हम भी नहीं ला रहे हैं यहां। प्राइवेट में पैसे का विश्वास होता है सरकारी में डर लगता है कि कब मिलेगा पैसा।’’

करीला गाँव निवासी किसान मुकेश कुमार (30 वर्ष) कहते हैं, ‘‘कर्मचारियों के आने-जाने का कोई समय नहीं होता है। अगर हम झूठ बोल रहे हों तो आप खुद चलकर देख लीजिए 11 बजे गया है केंद्र पर कोई नहीं आया होगा। किसानों की तो भेड़ चाल होती है।’’

ये भी पढ़ें-किसानों से सारा धान खरीदेगी बिहार सरकार, नहीं तय किया कोई लक्ष्य

किसान सेवा सहकारी समिति पर पीसीएफ का धान खरीद केंद्र खोला गया है। यहां के सचिव उमेश बाबू (50 वर्ष) कहते हैं, ‘‘पांच नवम्बर को वारदाना मिला है। पैसे भी खाते में आ गए। आज धान आने की उम्मीद है। धान कटकर सूख रही है। अभी तक नहीं आई पर अब आना शुरू हो जाएगी। पीसीएफ से बात की है कहा गया है कि पैसे की कोई दिक्कत नहीं होगी।’’ उन्होंने आगे बताया, ‘‘दो दिन में पैसा मुहैया करा दिया जाएगा। दो हजार कुंतल धान मेरे केंद्र पर खरीदा जाएगा। आरटीजीएस के माध्यम से किसानों के खातों में दो दिन में भुगतान पहुंच जाता है।’’

तिर्वा तहसील क्षेत्र के जनखत में नेफेड केंद्र प्रभारी अमरीश त्रिपाठी ने बताया, ‘‘केंद्र खुल चुका है। अभी तक कोई किसान धान बेचने नहीं आया है। कंपनी के नौ केंद्र खोले गए हैं।’’

जिला मुख्यालय से करीब 16 किमी दूर तिर्वा कस्बे के निवासी भास्कर त्रिपाठी बताते हैं, ‘‘मंडी समिति गया था। यहां गीला धान लेने से मना कर दिया गया। आढ़तों पर 1200 रुपए कुंतल धान लेने को कहा है। सरकारी खरीद केंद्रों पर 1550 रुपए है पर इसके लिए धान सुखाना पड़ेगा।’’

डिप्टी आरएमओ विभाग के कम्प्यूटर इंचार्ज बताते हैं, ‘‘कामन धान का रेट 1550 और ग्रेड ए का 1590 रुपए कुंतल है। कन्नौज जिले में 35 खरीद केंद्र खोले गए हैं। छह नवम्बर तक छह केंद्रों पर 200 कुंतल धान खरीदा गया है। केंद्र एक्टिव किए जा रहे हैं।’’ दूसरी ओर जानकारी के लिए डिप्टी आरएमओ समरेंद्र के मोबाइल नंबर पर कई बार संपर्क किया गया, लेकिन बात नहीं हो सकी।

ये भी पढ़ें-इस बार बिना पंजीकरण के किसानों से नहीं खरीदा जाएगा धान

धान खरीद के बाबत जरूरी तथ्य

  • कन्नौज में कुल सात एजेंसियों के 35 खरीद केंद्र खोले गए हैं।
  • विपणन शाखा के छह, पीसीएफ के 11, कर्मचारी कल्याण निगम, भारतीय खाद्य निगम और यूपी एग्रो के दो-दो केंद्र, एनसीसीएफ के तीन और नेफेड के नौ केंद्र खोले गए हैं।
  • इस बार आढ़तों को सरकारी खरीद केंद्र से दूर रखा गया है।
  • एक नवम्बर से 28 फरवरी 2018 तक धान खरीद होगी।
  • इस साल तीन लाख 57 हजार कुंतल धान खरीद का लक्ष्य है।
  • पिछले साल तीन लाख 47 हजार कुंतल धान खरीदी गई थी जबकि लक्ष्य दो लाख 78 हजार कुंतल का था।
  • केंद्र खुलने का समय सुबह नौ बजे से शाम पांच बजे तक का है।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top