कन्या भ्रूण हत्या रोकने के लिए अनूठा प्रयास, महिला बाइकर्स ने जन-जन को किया जागरूक, 

कन्या भ्रूण हत्या रोकने के लिए अनूठा प्रयास, महिला बाइकर्स ने जन-जन को किया जागरूक, वाराणसी में आयोजित कार्यक्रम में महिला बाइकर्स।

स्वयं प्रोजेक्ट डेस्क

वाराणसी। महिला एवं बाल विकास कल्याण विभाग ने महिला हेल्प लाइन 181, प्रदेश में 64 आशा ज्योति केंद्रों के लिए रेस्क्यू वैन का सिर्फ विस्तार ही नहीं किया बल्कि इनके प्रचार प्रसार और कन्या भ्रूण हत्या को रोकने के लिए मुखबिर योजना की जानकारी महिला बाइकर्स और महिला समाख्या की मदद से जन-जन तक में पहुंचाने की भी कोशिश की। विभाग के अधिकारियों ने भी इस मुहिम में बढ़ चढ़ कर हिस्सा लिया।

तीन दिवसीय रैली में हजारों लोगों को बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ, महिला हेल्प लाइन और रेस्क्यू वैन का कैसे लाभ ले सकें इसके लिए जागरूक किया गया। बनारस से रैली में शामिल श्रेया शर्मा (22 वर्ष) ने कहा, "अगर लोग बेटियों को बचाने और पढ़ाने के लिए इस रैली से भी जागरूक नहीं हुए तो इससे अच्छा दूसरा कोई तरीका नहीं हो सकता है, महिला बाइकर्स बेटियों की काबीलियत का जीता जागता उदाहरण है, इससे हर माता पिता को सीख लेनी चाहिए।" श्रेया की तरह इस रैली में शामिल सैकड़ों की संख्या में किशोरियों ने यही संदेश आम जनमानस को दिया।

ये भी पढ़ें- 70 प्रतिशत किसान परिवारों का खर्च आय से ज्यादा, कर्ज की एक बड़ी वजह यह भी, पढ़ें पूरी रिपोर्ट

महिला एवं बाल विकास कल्याण विभाग की कैबिनेट मंत्री रीता बहुगुणा जोशी ने महिला बाइकर्स को हरी झंडी दिखाते हुए लखनऊ में कहा था, "योजनाओं के विस्तार के साथ-साथ इसका प्रचार-प्रसार भी बहुत जरूरी है इसलिए इस बार विभाग ने महिला बाइकर्स और महिला समाख्या के मजबूत संगठन से इन योजनाओं की जानकारी एक साथ कई जिलों में पहुंचाई है, ये तीन दिवसीय पहली रैली नही होगी बल्कि प्रदेश में ऐसी सैकड़ों रैलियां निकाली जायेंगी,जिससे योजनाओं की जानकारी सभी को हो सके, सरकार के 100 दिन पूरे होने पर महिलाओं के हित में विभाग की ये सबसे बड़ी योजना है।

जिला अधिकारी योगेंद्र मिश्रा ने कहा, "केंद्र सरकार और राज्य सरकार की जो मंशा है उसका सजीव और जीवंत रूप जब महिला बाइकर्स के रूप में देखा तो हम सबने गौरवान्वित महसूस किया,हम उस देश के वासी है जहां महिलाओं को सर्वोच्य रखा गया है, महिला बाइकर्स के जोश को देखकर ऐसा लग रहा है आप सब भी अपनी बेटियों को इनकी तरह ही आगे आने देंगे उन्हें जन्म लेने से पहले खत्म नहीं करेंगे।"

ये भी पढ़ें- जीएसटी के विरोध में दिल्ली की 50000 कपड़ा दुकानें बंद

महिला समाख्या की जिला समन्यवक रंजना तिवारी ने कहा, "ये तो महिलाओं ने अभी शुरुवात की है, ग्रामीण क्षेत्र की लड़कियां इन महिला बाइकर्स को देखकर आगे आयेंगी,महिलाओं के साथ हो रही हिंसा और छेड़छाड़ अब कम होगी।" रैली समापन कार्यक्रम के मुख्य अतिथि महापौर राम गोपाल मोहले ने कहा, "काशी की धरती पर ये बाइकर्स अनेक सामाजिक कार्यकर्ताओं का उत्साह और मनोबल बढ़ाने आयी है जिससे हर मायने में काशी आगे बढ़े।"

लखनऊ से सिर्फ महिला बाइकर्स ही नहीं बल्कि विभाग के जिम्मेदार अधिकारी भी इस मुहीम में शामिल हुए।महिला एवं बाल विकास कल्याण विभाग के डिप्टी डॉयरेक्टर आशुतोष कुमार सिंह ने कहा, "इस तरह के प्रचार प्रसार में विभाग का ये पहला अनुभव था। तीन दिन लगातार रैली में शामिल होने के बाद ये महसूस किया कि ये लोगों तक जानकारी पहुंचाने का बहुत ही कारगर तरीका है, इससे योजना की जानकारी सभी को हुई और सभी इसका लाभ भी ले पाएंगे।"

ये भी पढ़ें- अगले 48 घंटों में होगी झमाझम बारिश, धान रोपाई की तैयारी कर लें किसान

बनारस के जिला प्रोबेशन अधिकारी प्रवीन कुमार तिवारी ने कहा, "बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ और महिला सुरक्षा के लिए महिला बाइकर्स ने लोगों को जो डोर टू डोर जाकर रैली के माध्यम से जागरूक किया ये जागरूकता का बहुत ही सशक्त माध्यम है,इससे विभाग की योजनाओं का सभी लाभ ले पाएंगे।" रैली में शामिल बरेली मंडल की उप मुख्य परिवीक्षा अधिकारी मुकुल मायती ने कहा, "हजारों की संख्या में महिलाओं ने बेटीे बचाओ बेटी पढ़ाओ के नारे जोश में लगाए, आने वाले समय में इसकी गूंज दिखाई देगी।" वहीं महिला कल्याण विभाग की उप निदेशक प्रेमवती ने कहा, "लड़का लड़की का भेद इन बाइकर्स को देखकर खत्म हुआ होगा, बेटी को जन्म दे उसे मारे नहीं उसके सपनो को पूरा करने की उसे आजादी दें।"

ये भी पढ़ें- जीएसटी से दहशत में किसान, एक जुलाई से महंगी होगी खेती, लेकिन किस-किस पर पड़ेगा असर, पता नहीं

रैली के समापन समारोह में जया महिला बैंड ने उत्प्रेरक गीत प्रस्तुत किये वहीं नुक्कड़ नाटक की टीम ने सुनो हमारी बात सुनो की प्रस्तुति की। नुक्कड़ नाटक की टीम लखनऊ से इस रैली में शामिल हुई थी। रायबरेली से लेकर बनारस तक जगह जगह चौराहों पर अपनी प्रस्तुति दी।नुक्कड़ नाटक के प्रमुख महेश चंद्र देवा ने कहा, "ग्रामीणों तक कोई भी सन्देश सशक्त रूप से पहुंचे उसके लिए नुक्कड़ नाटक के द्वारा हमारी टीम उनके वास्तविक परिवेश की घटना का जिक्र करते हुए सरकारी योजना की जानकारी भी दे देती है।" महापौर ने सभी बाइकर्स को प्रसस्ति पत्र देकर सम्मानित किया।ये रैली विभाग की तरफ से पहली रैली नहीं है बल्कि प्रदेश के सभी जिलों में ऐसी ही रैलियां निकलेंगी।

Share it
Top