ग्रामीणों को स्वच्छता का पाठ पढ़ा रहेे युवा आशुतोष

ग्रामीणों को स्वच्छता का पाठ पढ़ा रहेे युवा आशुतोषस्वच्छता के प्रति जागरूक रहे हैं आशुतोष।

नागेश मिश्रा, स्वयं कम्युनिटी जर्नलिस्ट

गोरखपुर। स्वच्छ भारत, समृद्ध भारत के उद्देश्य से गाँव वालों को साफ-सफाई की बारिकियों को खोराबार ब्लॉक के युवा सामाजिक कार्यकर्ता आशुतोष वर्मा विस्तार से समझा रहे हैं। इसमें लोगों हाथ धोने के तरीके से लेकर आसपास की गंदगी से छुटकारा पाने के सभी तरीके के बारे में लोगों को समझाया जा रहा है। खोराबार ब्लॉक प्रशासन की ओर से आशुतोष वर्मा को जो जिम्मेदारी सौंपी गई है, वे उस पर सही दिशा में निरंतर कार्य कर रहे हैं।

आशुतोष ने बताया,“ प्रधानमंत्री मोदी द्वरा शुरू किए गए स्वच्छ भारत अभियान से मुझे काफी प्रेरणा मिली। इस अभियान से प्रभावित होकर मैंने लोगों को गंदगी कसे छुटकारा दिलाने की ठानी। गंदगी से मुझे चिढ है। खुले में शौच मुक्त (ओडीएफ) गाँव के लिए पिछले छह माह से लगातार अभियान चलाया है। जिसका परिणाम लोगों में साकारात्मक देखने को मिल रहा है।

ये भी पढ़ें- गंदगी से निपटने के लिए बेंगलुरू का एक्शन प्लान, सफाई के साथ इस तरह हो रहा किसानों का फायदा

शुरुआत के दिनों में कुछ परेशानी जरूर हुई लेकिन लोगों में काफी सुधार नजर आ रहा है, लोग साफ-सफाई के महत्व को समझने लगे हैं। इसी की देन है कि ब्लॉक के ग्रामपंचायत भरवलिया बुर्जुग का पथरा, बरगदवा पंचायत के चकदेइया,चकलादोयम और भरवलिया बुजुर्ग का पिपरा गाँव ओडीएफ की कगार पर है। अभियान की देन है कि यहां के लोगों ने समय रहते अपने-आप को इस दिशा में अपनी दिनचर्या को शामिल कर लिया।”

संक्रामक बीमारियों का प्रकोप यहां ज्यादा है

जापानी इंसेफेलाइटिस के लिहाज से खोराबार ब्लॉक काफी संवेदनशील है, ऐसे में स्वच्छ भारत अभियान के रूप में इस जागरूकता का काफी अहम योगदान होगा, ताकि बुजुर्गों व बच्चों को साफ-सफाई के प्रति जागरूक किया जा सके। इस अभियान में स्कूल बच्चे व अभिभावक बढ़चढ़ कर रूचि ले रहे हैं। यह प्रयोग अगर जारी रहा तो लोगों को कई संक्रामक बीमारियों से छुटकारा मिल जाएगा।

खोराबार ब्लॉक के भरवलिया बुजुर्ग की ग्राम प्रधान जीतन देवी (67 वर्ष) ने बताया, “ स्वच्छ भारत अभियान के तहत गाँव में चल रहे अभियान से लोगों को काफी लाभ मिला है। आशुतोष के प्रयास से लोगों में काफी जागरूकता नजर आ रही है।”

ये भी पढ़ें- नहीं काम आया सरकारी तंत्र, महिला समाख्या ने की गाँव की सफाई

खोराबार ब्लॉक के बरगदवा के ग्राम प्रधान रामलखन यादव (67 वर्ष) ने बताया,“ आशुतोष के प्रयास से गाँव के बच्चे व बुजुर्गों में काफी बदलाव है,स्वच्छता के प्रति लोगों में काफी जागरूकता देखने को मिल रही है।”

गोरखपुर बीडीओ खोराबार प्रतिभा जायसवाल, “ब्लॉक क्षेत्र के सभी 52 गाँवों को ओडीएफ करने के लिए सभी तैयारियां की जा रही हैं। गाँवों में स्वच्छ भारत के तहत अभियान चलाया जा रहा है, इससे लोगों में काफी जागरूकता नजर आ रही है। मैं खुद गाँवों में जाकर लोगों से बात कर उनकी राय लेती हूं और जरूरी सुझाव भी देती हूं। हां ब्लॉक क्षेत्र में अभी कितने शौचालय बनने है इसके लिए सर्वे करा लिया गया है। आशुतोष का काम सराहनीय है।”

Share it
Top