गोरखपुर में पीड़ित परिवारों से मिले राहुल गांधी, दिया हरसंभव मदद का भरोसा 

गोरखपुर में पीड़ित परिवारों से मिले राहुल गांधी, दिया हरसंभव मदद का भरोसा गोरखपुर में पीड़ित परिवारों का दर्द सुनते हुए राहुल गांधी

नई दिल्ली। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी शनिवार को गोरखपुर पहुंचे। यहां वे उन बच्चों के परिजनों से मिले, जिनकी बीआरडी अस्पताल में ऑक्सीजन की कमी के चलते मौत हो गई थी। राहुल गांधी के साथ गोरखपुर पहुंचे कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा कि सीएम योगी के यहां से पांच बार सांसद होने के बावजूद उन्होंने अस्पताल के लिए कुछ नहीं किया।

राहुल गांधी दिल्ली से चार्टर्ड प्लेन से करीब 11 बजे गोरखपुर एयरपोर्ट पहुंचे। उसके बाद एयरपोर्ट से बागाघाटा गांव गए, जहां उन्होंने ब्रह्मदेव यादव से मुलाकात की. ब्रह्मदेव यादव के दो बच्चों की मौत बीआरडी कॉलेज में इलाज के दौरान हो गई थी। ब्रह्मदेव यादव की शादी के आठ साल बाद दो जुड़वा बच्चों का जन्म हुआ था, लेकिन दोनों की मौत इलाज के दौरान हो गई।

ये भी पढ़ें:- गोरखपुर त्रासदी : आओ बच्चों तुम्हें दिखाएं झांकी हिन्दुस्तान की

ब्रह्मदेव यादव ने बताया कि कैसे इलाज वाली रात अस्पताल में ऑक्सीजन का लेवल बहुत डाउन हो गया था। बार-बार गैस भी बंद हो रही थी, जिसकी शिकायत डॉक्टरों से करने पर उन्होंने ध्यान नहीं दिया और ब्रह्मदेव यादव के साथ अभद्रता भी की। उन्हें चुपचाप दोनों बच्चों की लाश के साथ भेज दिया गया। यह सारी बातें ब्रह्मदेव यादव ने राहुल गांधी को भी बताई। उस दौरान तीन और पीड़ित परिवार राहुल गांधी से मिलने आए, जिन्हें राहुल गांधी ने मदद का भरोसा दिया और सरकार की मंशा पर भी सवाल उठाए।

ये भी पढ़ें:- मौतों की पहेली : गोरखपुर त्रासदी से जुड़े 17 अनसुलझे सवाल

ये भी पढ़ें:- गोरखपुर इनसाइड स्टोरी : बच्चों की सेहत की रक्षक नहीं, भक्षक बनी पुष्पा सेल्स

राहुल ने परिवार वालों से कहा कि यह सरकार गरीबों का साथ नहीं दे रही है और जो लापरवाही हुई है उसे कांग्रेस पार्टी उसके खिलाफ आवाज उठाएगी। इसके बाद राहुल गांधी पास के गांव मलाव गए मलाव के बाद बसोली खुर्द और खुटोना गांव मे पीड़ित परिवार के लोगों से मिले।

इससे पहले जब ये घटना सामने आई थी, तब कांग्रेस का एक डेलीगेशन दिल्ली से गोरखपुर गया था। जिसमें वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद, आरपीएन सिंह और राज बब्बर शामिल थे। कांग्रेस नेताओं ने अस्पताल में बच्चों की मौत के लिए सीधे तौर पर योगी आदित्यनाथ सरकार को कठघरे में खड़ा किया था।

ये भी पढ़ें:- गोरखपुर त्रासदी : इंडियन मेडिकल एसोसिएशन की रिपोर्ट ने खोली सरकारी व्यवस्था की पोल

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top