खबर का असर: 4 साल बाद वर्धा में किसानों की पूरी होगी ये मांग

By - Chetan Bele
Update: 2019-12-07 11:09 GMT

चेतन बेले, कम्युनिटी जर्नलिस्ट

वर्धा (महाराष्ट्र)। महाराष्ट्र के वर्धा जिले के पनवाड़ी गांव में पिछले 4 वर्षों से किसानों को अपने खेतों तक जाने के लिए गले तक पानी में उतरना पड़ता था। बैलगाड़ियां तक डूब कर निकलती थी, जिससे कई बार किसानों की फसलें पानी में डूब जाती थीं, किसानों की तमाम मांगों के बावजूद सुनवाई नहीं हो रही थी, गांव कनेक्शन में वीडियो स्टोरी पब्लिश होने के बाद स्थानीय प्रशासन ने पुलिया निर्माण के लिए टेंडर जारी कर दिया है।

वर्धा जिले की आर्वी तहसील में सुकली-पिंपलगांव के बीच सुकली डैम का निर्माण किया गया। निर्माण कार्य 2009 से 2011 के बीच चला। इस दौरान किसानों की आने-जाने की सुविधा के लिए जगह-जगह पुल-पुलियों का निर्माण किया गया था। लघु सिंचाई विभाग ने पनवाड़ी-दिर्घी गांव में आंजी घाट पर 2011 में एक पुलिया बनवाई गई थी, लेकिन ये एक साल बाद ही टूट गई थी। पुलिया न होने से गांव के लोगों को काफी परेशान होती थी, जिन्हें नदी में गले तक पानी में डूब कर पार करना होता था।


पनवाड़ी में रहने वाले नारायण उमक कहते हैं, पुलिया न होने से बहुत परेशानी है। तीन दिन पहले ही कपास के गट्ठर लेकर एक किसान बैलगाड़ी से आ रहा थी, बीच में बैलगाड़ी पलट गई। किसी तरह बैलों की जान बची लेकिन 4 कुंतल कपास पूरी तरह भीग गई। गनीमत रही कि किसी की जान नहीं गई। ऐसे हादसे कई बार हो चुके हैं।

पनवाड़ी गांव के दर्जनों के किसानों के खेत नदी के उस पार है। वैसे तो ये रास्ता 500 मीटर का ही है, लेकिन किसानों को नदी से होकर गुजरना पड़ता है। दूसरा जो पुल बना है वो 15 किलोमीटर दूर है। नारायण के मुताबिक किसान समय बचाने के लिए मजबूरी में सुबह-शाम अपनी जान जोखिम में डालते हैं। पिछले कई वर्षों से किसान और ग्रामीण लगातार अधिकारियों के चक्कर लगा रहे थे लेकिन सुनवाई नहीं हो रही थी।

नवंबर 2019 में गांव कनेक्शन ने पनवाड़ी गांव पहुंचकर इस समस्या पर वीडियो स्टोरी की, जिसके बाद लघु सिंचाई विभाग हरकत में आया और पुलिया निर्माण के लिए टेंडर जारी किया गया है। अधिकारियों के मुताबिक पानी कम होते ही निर्माण कार्य अब शुरु होगा और मई तक पुल बनकर तैयार किया जाएगा।

लघु सिंचाई विभाग में कार्यकारी अभियंता एमपी सूर्यवंशी ने बताया, "ग्रामीणों की समस्या को देखते हुए कागजी कार्रवाई पूरी कर 31.37 लाख रुपए का टेंडर जारी किया गया हो, जो डीव्यू रेड्डी नाम के ठेकेदार को मिला है। मई के आखिर तक पुलिया का निर्माण हो जाएगा ताकि बारिश के मौसम में किसानों को समस्या न हो।"

एक गांव की ख़बर को प्रमुखता से उठाने के लिए पनवाड़ी गांव के किसानों ने गांव कनेक्शन को धन्यवाद कहा है। ख़बर के असर की संबंधित ख़बरें यहां पढ़िए 

ये भी पढ़ें- महाराष्ट्र: किसानों के दर्द पर लग पाएगा मरहम?

Similar News