योग का अधकचरा ज्ञान बढ़ा सकता है आपकी तकलीफ

योग का अधकचरा ज्ञान बढ़ा सकता है आपकी तकलीफयोग करते समय इन बातों का रखें ध्यान।

योग के पास हर बीमारी का इलाज है लेकिन अगर इसे सही तरीके से किया जाए वरना इसके बुरा प्रभाव भी पड़ सकता है।

जर्नल ऑफ़ बॉडी वर्क एंड मूवमेंट थेरेपीज में प्रकाशित शोध के अनुसार, योग 10% लोगों में मस्तिष्ककोशिका का दर्द का कारण बनता है और पहले लगी हुई चोटों को 21 प्रतिशत तक बढ़ा देता है। विशेषज्ञों के अनुसार एक्सरसाइज करने से पूर्व किसी प्रशिक्षक से सलाह ले लेनी चाहिए। यह सलाह आपको देखकर दी जायेगी कि आपकी उम्र क्या है, किस व्यवसाय से जुड़े हैं और ऐसी तमाम बातें जो एक्सरसाइज करने से पहले ध्यान में लानी जरूरी होती हैं।

यूनिवर्सिटी के फैकल्टी ऑफ हैल्थ साइंसेज के मुख्य शोधकर्ता एसोसिएट प्रोफेसर एवेनोलॉज पप्पस के मुताबिक, 'योग मांसपेशियों और हड्डियों में दर्द के लिए फायदेमंद हो सकता है, लेकिन व्यायाम के किसी भी प्रकार की तरह इससे दर्द भी हो सकता है।'

अध्ययन में पाया गया कि ज्यादातर योग के नए नए प्रैक्टिशनरों में दर्द ऊपरी हिस्से (कंधे, कोहनी, कलाई, हाथ) में ज्यादा था और इस दर्द का कारण था ऐसे आसन, जो ऊपरी अंगों पर वजन डालते थे।

ये भी पढ़ें: 'विदेशों से योग के सामान की मांग बढ़ी'

योग करते समय भी कुछ बातों का ध्यान रखना जरूरी होता है अक्सर हम किसी से पूछकर आधा अधूरा समझकर योग करने लगते हैं और इसके बाद हमें दर्द होने लगता है। इसके बारे में योगा केयर में प्रशिक्षण दे रहे विनय बताते हैं, पानी पर्याप्त मात्रा में पिएं, कम पानी से कई तरह के नुकसान हैं इसलिए समय-समय पर पानी पीते रहें ताकि शरीर की पानी की जरूरत पूरी हो सके। योग के नियम पहले सही तरीके से समझ लें तभी करना शुरू करें।

इन बातों का रखें ध्यान

  • योगासन खुली एवं ताज़ा हवा में करना सबसे अच्छा माना जाता है, शांति के माहौल में करना चाहिए।
  • योग सीधे जमीन या फर्श पर बैठकर न करें। इसके लिए योगा मैट, दरी या कालीन जमीन पर बिछाकर योगासन करें।
  • याद रखे की किसी भी योगासन को झटके से न करें और न ही योग की मुद्रा से झटके से निकले , योग उतना ही करे, जितना आप आसानी से कर पाएं।

ये भी पढ़ें: बहुत कुछ कहता है योग का यह 'लोगो'

  • योगासन करते समय आरामदायक सूती के ढीले कपडे़ पहनना अच्छा रहता है। ज्यादा तंग कपड़े न ही पहने तो अच्छा रहता है।
  • योगासन की प्रक्रिया समाप्त करने के तुरंत बाद न नहाएं कुछ समय बाद नहाए क्योंकि किसी भी व्यायाम के बाद हमारा शरीर गर्म हो जाता है और अगर आप एक दम से नहाएंगे तो तो सर्दी-जुकाम, बदन दर्द जैसी तकलीफ हो सकती है।
  • योग में विधि, समय, निरंतरता और एकाग्रता और सावधानी बरतना जरूरी होता है।

ये भी पढ़ें: इजराइलियों पर चढ़ा योग का क्रेज, अष्टांग सबसे लोकप्रिय


ये भी पढ़ें: भारत के कमर्शियल योग गुरू, जिन्होंने योग को विदेश में पहुंचाया.....

Share it
Top