Read latest updates about "स्कूल कनेक्शन" - Page 1

  • इस स्कूल में प्रयोगशाला की दीवारें ही बन गईं हैं बच्चों की किताबें

    सोनभद्र। आठवीं कक्षा में पढ़ने वाले पवन को क्लास से अधिक विज्ञान प्रयोगशाला में ज्यादा अच्छा लगता है, तभी तो वो हर दिन कुछ न कुछ नया सीखते रहते हैं। ये हैं पूर्व माध्यमिक विद्यालय जहां बच्चे किताबी ज्ञान के साथ ही प्रयोग के जरिए भी सीखते हैं। सोनभद्र जिले के घोरावल ब्लॉक के ढुटेर कला का ये पूर्व...

  • अनोखा स्कूल: जहां ट्रेन के डिब्बों में चलती है बच्चों की स्पेशल क्लास

    घोरावल (सोनभद्र)। हर दिन सुबह बच्चे आते ही ट्रेन के डिब्बे और बस में अपनी-अपनी सीट पर बैठ जाते हैं, इसके बाद दिन भर बच्चों की क्लास यहीं पर लगती है। आपको लग रहा होगा कि स्कूल वो भी ट्रेन और बस में, लेकिन ये सच है। इस सरकारी विद्यालय के प्रधानाध्यापक ने विद्यालय को ऐसा पेंट कराया है कि आप भी धोखा खा...

  • सरकारी स्कूल की प्रिसिंपल की सोच की आप भी करेंगे तारीफ़

    श्रावस्ती। मॉडल स्कूल पांडेयपुरवा की प्राथमिक शिक्षा के क्षेत्र में अलग ही पहचान है। प्रधानाध्यापक, ग्राम प्रधान और एसएमसी सदस्यों की कोशिश ने इस विद्यालय की रंगत ही बदल दी है। विद्यालय के कमरों में टाइल्स, शौचालय के साथ शानदार किचन बना है। इस स्कूल में बच्चों को अंग्रेजी माध्यम से शिक्षा दी जा रही...

  • अभिभावकों ने समझी जिम्मेदारी, अब हर एक बच्चा जाता है स्कूल

    सहारनपुर। हर बच्चे की पढ़ाई पर खास ध्यान...उनकी कमजोरियों को ताकत बनाने की कवायद और शिक्षा के साथ संस्कार का पाठ पढ़ाना...ये वो बातें हैं जो सहारनपुर जिले के रामपुर ब्लॉक के जंधेड़ा शमसपुर गाँव के प्राथमिक विद्यालय को खास बनाती हैं। कुछ साल तक यहां पर बच्चों का नामांकन नाममात्र का था, शहर से नजदीक...

  • सोनभद्र के जिलाधिकारी का प्रयास, एक भी बच्चे का स्कूल न छूटे

    सोनभद्र। एक भी बच्चा स्कूल जाने से न रह जाए इसके लिए प्रदेश भर में सर्वे किए जा रहे हैं। सरकारी स्कूलों को और बेहतर बनाया जा सके और शिक्षकों की कमी पढ़ाई के आड़े नहीं आए इसके लिए लगातार प्रयास हो रहे हैं। सोनभद्र के जिलाधिकारी अमित कुमार सिंह से इन मुद्दों पर खास चर्चा हुई। सवाल : सरकारी...

  • इन सरकारी स्कूलों को देखकर आप दूसरे स्कूलों को भूल जाएंगे

    प्रतापगढ़। कुछ महीने पहले इन स्कूलों की पहचान गिरती दीवारें और टूटी फर्श और नाममात्र के बच्चों से थी, लेकिन आज उनकी पहचान चमचमाती फर्श, दीवारों पर शानदार पेंटिंग, अत्याधुनिक लाइब्रेरी और प्रयोगशाला, कंप्यूटर लैब, साफ-सुथरे शौचालय और ढेर सारे बच्चों से है। प्रतापगढ़ जिले के अलग-अलग ब्लॉकों के...

  • "गाँव का हर बच्चा ख़ूब पढ़े, अफ़सर बने और अच्छी नौकरी करे,"

    महोबा (उत्तर प्रदेश)। भगवान दास (30 वर्ष) महोबा जिले के बरा गाँव में पिछले चार साल से ग्राम प्रधान हैं। दसवीं फेल होने की वजह से भगवान दास को अक्सर परेशानियों का सामना करना पड़ता है। वह नहीं चाहते कि आगे की पीढ़ी भी वही टीस महसूस करे जिसका वह सामना कर रहे हैं। इसलिए गाँव के लोगों को जागरूक करने के...

  • अब जंगल से लकड़ियां बीनने नहीं, हर दिन स्कूल जाते हैं बच्चे

    श्रावस्ती। पूर्व माध्यमिक विद्यालय रनियापुर के प्रधानाध्यापक और सहायक अध्यापक उन शिक्षकों के लिए नजीर हैं, जो प्राथमिक शिक्षा की बदहाली के लिए व्यवस्था को दोष देते हैं। यहां पर तैनात अध्यापकों की मेहनत से आदिवासी बाहुल्य इस गांव के बच्चे शिक्षा के महत्व को समझने लगे हैं। वे अपना भविष्य बनना चाहते...

  • विश्व शिक्षक दिवस : अपने बच्चों को सरकारी स्कूल में पढ़ाकर शिक्षक तोड़ रहे मिथक

    निचलौल (महराजगंज)। अमूमन सभी यह सोचते हैं कि सरकारी विद्यालयों के टीचर खुद अपने बच्चों को निजी स्कूलों में पढ़ाते हैं। यह काफी हद तक सही भी जान पड़ता है। लेकिन महराजगंज जिले के निचलौल ब्लॉक का प्राथमिक विद्यालय यह छवि तोड़ता है। महाराजगंज जिला मुख्यालय से करीब 35 किमी. दूर निचलौल ब्लॉक के...

  • गुमसुम चेहरों पर खिल रही मुस्कान

    महमूदपुर (लखनऊ)। श्रद्धा को बचपन से बोलने में मुश्किल होती थी... हकलाने की वजह से वह गुमसुम सी रहती, किसी से बात करने में भी झिझकती... लेकिन जब से उसने स्कूल जाना शुरू किया, हम उम्र बच्चों के साथ और शिक्षकों के प्रयास से उसमें बदलाव दिखने लगा है। तीसरी कक्षा की श्रद्धा साहू (8 वर्ष) लखनऊ जिले के...

  • युवा अध्यापकों के आने से प्राथमिक विद्यालयों पर बढ़ रहा है लोगों का विश्वास

    गोंडा। उत्तर प्रदेश के विद्यालयों में विद्यालय प्रबंधन समिति लंबे अरसे से काम कर रही है। ऐसे में समिति की मदद से कुछ वर्षों में ग्रामीण क्षेत्रों के विद्यालयों में आए बदलाव की जानकारी के लिए गोंडा के बेसिक शिक्षा अधिकारी मनिराम सिंह से गाँव कनेक्शन के संवाददाता ने खास बातचीत की...मनिराम सिंह, बेसिक...

  • 'एसएमसी की सक्रियता ला रही शिक्षा के स्तर में सुधार'

    लखनऊ। प्रदेश के विद्यालयों में विद्यालय प्रबंधन समितियां लंबे अरसे से काम कर रही हैं। समिति की मदद से ग्रामीण क्षेत्रों के शिक्षा के स्तर में काफी सुधार हुआ है। राजधानी लखनऊ में ये विद्यालय प्रबंधन समितियां कितनी सक्रिय हैं और इनकी मौजूदगी से क्या बदलाव हुए हैं इसके बारे में बेसिक शिक्षा अधिकारी...

Share it
Top